छोटे व्यापारियों के लिए अच्छी खबर: मोदी सरकार दे सकती है सस्ता लोन, पेंशन और दुर्घटना बीमा

न्यूज24 ब्यूरो, नई दिल्ली (21 जनवरी): न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के सूत्रों के हवाले से मिली खबर के अनुसार, मोदी सरकार लाखों छोटे व्यापारियों को सस्ते दर पर लोन और दुर्घटना बीमा कवरेज देने पर विचार कर रही है।लोकसभा चुनाव से पहले एनडीए सरकार अपने अहम वोटर समूह को तोहफा देकर खुश कर सकती है। बता दें कि व्यापारी वर्ग को बीजेपी का समर्थक समझा जाता है, लेकिन पिछले कुछ सालों में नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसलों से उनमें कुछ नाराजगी है। मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान जैसे राज्यों में विधानसभा चुनाव में हार के बाद बीजेपी अपने कोर वोटर्स को दोबारा नजदीक लाने में जुटी है।

खबरों के मुताबिक इसी प्लान के तहत सरकार ने हाल ही में जीएसटी में छूट के साथ ही ई-कॉमर्स पॉलिसी को भी छोटे व्यापारियों के हित में बदला है। नाम गोपनीय रखने की शर्त के साथ सूत्रों ने बताया कि सरकार कुछ और अहम कदम उठाने जा रही है। सरकार 5 करोड़ रुपये से कम सालाना बिक्री वाले व्यापारियों को 2 फीसदी सस्ता लोन दिलाने पर काम कर रही है। ब्याज पर छूट के बराबर रकम सरकार बैंकों को देगी।

अधिक क्रेडिट रेटिंग वाले छोटे व्यापारी 9-10 फीसदी ब्याज पर बैंक लोन ले सकते हैं, जबकि कम रेटिंग वाले व्यापारी 13-14 फीसदी ब्याज दर से कर्ज ले सकते हैं। कन्फेडरेशन ऑफ ऑल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के महासचिव प्रवीण खंडेलवाल ने कहा कि 7 करोड़ छोटे व्यापारियों में से केवल 4 फीसदी को ही बैंक ऋण उपलब्ध है। निजी कर्जदारों से कई बार उन्हें 25 फीसदी महीने तक के ऊंचे दर पर पैसा मिलता है। सरकार बैंकों में व्यापारियों के लिए अलग विंडो खोलने पर भी विचार कर रही है।

सूत्रों के मुताबिक, सरकार 1 करोड़ रुपये से कम सालाना बिक्री वाले व्यापारियों को 10 लाख रुपये तक का मुफ्त दुर्घटना बीमा भी उपलब्ध कराने पर विचार कर रही है। एक सूत्र ने कहा, 'छोटे व्यापारियों के पास काम करने वाले कर्मचारियों को भी बीमा योजना का लाभ उठाने में छूट मिल सकती है।' सरकार रिटायरमेंट के बाद पंजीकृत व्यापारियों को पेंशन देने पर भी विचार कर रही है। व्यापार संगठन मांग करते रहे हैं कि वे ग्राहक से टैक्स कलेक्ट कर राजस्व में जमा कराते हैं और एक तरह से सरकारी मशीनरी का हिस्सा हैं।