BREAKING: मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार कल, ये हैं 9 नए संभावित चेहरे


नई दिल्ली (2 सितंबर): कल सुबह तकरीबन साढ़े दस बजे मोदी कैबिनेट का विस्तार होने जा रहा है। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक कल पीएम मोदी के मंत्रीमंडल में 9 नए चेहरे को शामिल किया जाएगा। वहीं इस विस्तार में सहयोगी दलों को कोई जगह नहीं दिया जाएगा। बताया जा रहा है कि 2019 से पहले केंद्रीय मंत्रिमंडल का यह आखिरी विस्तार है। 

इससे पहले आज मंत्रिमंडल में फेरबदल को लेकर बीजेपी में लगातार बैठकों का दौर जारी रहा। शनिवार दिन भर अमित शाह के घर नेताओं का आना-जाना लगा रहा, अब  बीजेपी के 9 नए नेताओं के नाम सामने आए हैं। बताया जा रहा है कि मोदी मंत्रिमंडल में इन चेहरों को जगह मिल सकती है।

मोदी कैबिनेट में शामिल होने वाले संभावित चेहरों...

शिव प्रताप शुक्ला- उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं, वह ग्रामीण विकास के लिए बनाई गई संसदीय स्थाई समिति के सदस्य हैं। शिव प्रताप शुक्ला यूपी विधानसभा के लिए लगातार 4 बार 1989, 1991, 1993 और 1996 में चुने गए। वह 8 साल तक यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे।

अश्विनी कुमार चौबे- बिहार के बक्सर से सांसद हैं। वह लगातार 5 बार बिहार विधानसभा के लिए चुने गए। उन्होंने बिहार सरकार में स्वास्थ्य, शहरी विकास जैसे महत्वपूर्ण मंत्रालय संभाले हैं।

हरदीप सिंह पुरी- 1974 बैच के आईएफएस अफसर हैं और उनको विदेश नीति और राष्ट्रीय सुरक्षा का जानकार माना जाता है।

गजेंद्र सिंह शेखावत- राजस्थान के जोधपुर से लोकसभा सांसद हैं। वह वित्तीय मामलों पर संसद की स्थाई समिति के सदस्य हैं।

सत्यापाल सिंह- उत्तर प्रदेश के बागपत से लोकसभा सांसद हैं, वह गृह मामलों में संसदीय स्थाई समिति के सदस्य हैं। मुबंई के पूर्व पुलिस कमिश्नर रह चुके हैं।

अनंत कुमार हेगड़े- बीजेपी नेता अनंत कुमार हेगड़े कर्नाटक से ताल्लुक रखते हैं और वह लोकसभा सांसद हैं। अनंत कुमार हेगड़े को सुषमा स्वराज का करीबी माना जाता है।

राजकुमार सिंह-  बिहार के आरा से लोकसभा सांसद आरके सिंह केंद्रीय गृह सचिव रह चुके हैं। सिंह ने समस्तीपुर में जिलाधिकारी रहते हुए बीजेपी के वरिष्ठ बीजेपी नेता लाल कृष्ण आडवाणी को अक्टूबर 1990 में गिरफ्तार किया था।

वीरेंद्र कुमार- कुमार मध्य प्रदेश के टिकमगढ़ से सांसद हैं। वह 1996 से 2009 तक लगातार सागर सीट से विधायक रह चुके हैं।

अल्फ़ोंस कन्ननथनम- 1979 केरल बैच के आईएएस अधिकारी और बीजेपी के वरिष्ठ नेता हैं। दिल्ली में कमिश्नर रहते हुए उन्होंने 14310 अवैध इमारतों को गिरा दिया था। जिसके बाद अल्फोंस काफी चर्चा में आए थे। उन्हें 1994 में टाइम्स मैगजीन ने 100 यंग ग्लोबल लीडर्स की सूची में शामिल किया था।

हालांकि अभी तक पार्टी की ओर से इन नामों पर मुहर नहीं लगी है। वहीं सूत्रों के हवाले से मिल रही जानकारी के मुताबिक शपथग्रहण से पहले मंत्रिमंडल में शामिल होने वाले सांसदों को प्रधानमंत्री मोदी सुबह नास्ते पर पर बुलाएंगे। इसके बाद तमाम नेता शपथग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए जाएंगे। संभावित सूची में फिलहाल सहयोगी दलों के किसी भी नेता का नाम नहीं है।