#ModiCabinet में 19 नए मंत्री हुए आज शामिल...

नई दिल्ली (5 जुलाई) : बीस महीने बाद आज मोदी सरकार की कैबिनेट में  दूसरी बार फेरबदल हुआ। आज 19 नए मंत्रियों को राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने शपथ दिलाई गई। हालांकि, पांच मंत्रियों ने अपना इस्तीफा पीएम को भेज दिया है। आज हुए विस्तार में बीजेपी के प्रवक्ता और केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का प्रमोशन करते हुए उन्हें कैबिनेट मंत्री का दर्जा दिया गया है। 

इनको बनाया गया राज्यमंत्री

- विजय गोयल, राज्यसभा सांसद, राजस्थान

- सीआर चौधरी, सांसद, नागौर राजस्थान

- पीपी चौधरी, सांसद, पाली, राजस्थान

- अर्जुनराम मेघवाल, सांसद, राजस्थान

- महेंद्रनाथ पांडे, सांसद चंदौली, यूपी

- कृष्णा राज, सांसद शाहजहांपुर, यूपी

- अनुप्रिया पटेल, सांसद मिर्जापुर, यूपी

- एम.जे. अकबर, राज्यसभा सांसद, मप्र

- अनिल माधव दवे, राज्यसभा सांसद, मप्र

- फग्गन सिंह, सांसद, मध्यप्रदेश

- पुरुषोतम रुपाला, राज्यसभा सांसद, गुजरात

- जसवंत सिंह भाबोर, सांसद दाहोद, गुजरात

- मनसुखभाई मंडविया, राज्यसभा सांसद, गुजरात

- रामदास अठावले, राज्यसभा सांसद, महाराष्ट्र

- सुभाष रामराव भामरे, सांसद, धुले, महाराष्ट्र

- राजेन गोहिन, सांसद नौगांव, असम

- एसएस आहलूवालिया, सांसद, दार्जलिंग

- अजय टम्टा, सांसद अल्मोड़ा, उत्तराखंड

 

- मोदी मंत्रीमंडल में सुभाष भामरे को राज्यमंत्री बनाया गया...

 

राजस्थान से बीजेपी के नेता पीपी चौधरी ने मोदी के नए मंत्रीमंडल में शामिल हो गए...

सांसद सीआर चौधरी ने ली मंत्रीपद की शपथ...

अपना दल की नेता अनुप्रिया पटेल ने ली राज्यमंत्री के पद की शपथ...

साइकिल से मंत्रीमंडल की शपथ लेने पुहंचे मनसुख भाई मंडाविया ने भी मंत्रीपद की शपथ ली...

सांसद कृष्णा राज को राज्यमंत्री के पद की शपथ दिलाई गई,,,

उत्तराखंड से पार्टी के नेता अजय टमटा ने ली राज्यमंत्री की शपथ...

चंदौली से सांसद महेंद्र नाथ पांडे को शपथ दिलाई गई...

 

गुजरात से बीजेपी नेता जसवंत सिंह को शपथ दिलाई गई...

 

पूर्व आईएएस अफसर और सांसद अर्जुन मेघवाल को मोद मंत्रीमंडल में राज्यमंत्री की शपथ दिलाई गई...

 

वरिष्ठ पत्रकार को बीजेपी नेता एमजे अकबर को भी मंत्री पद की शपथ दिलाई गई...

 

राज्य सभा के सांसद और गुजरात के पटेल नेता पुरुषोत्तम रुपाला ने मंत्रीपद की शपथ ली...

राज्य सभा के सांसद अनिल माघव दवे को भी मंत्री बनाया गया..

 

नौगांव से सांसद राजेन गोहेन को मंत्रीमंडल की शपथ दिलाई गई...

 

आरपीआई के नेता रामदास आठवले ने ली शपथ...

विजय गोयल भी मोदी के मंत्रीमंडल में शामिल हुए...

रमेश जिगजिणजी ने ली शपथ...

 

सांसद एसएस अहलूवालिया ने ली राज्यमंत्री के रूप में शपथ...

सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते ने ली मंत्रीपद की शपथ...

 

केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर का हुआ प्रमोशन...

 

मोदी कैबिनेट में शामिल होने वालों में अनुप्रिया पटेल, कृष्णाराज, महेंद्र नाथ, मुनसुख मंडाविया, अजय टमटा, रामदास आठवले , अर्जुन मेघवाल, सीपी अहलूवालिया, सीआर चौधरी, पीपी चौधरी, अनिल देव, सुभाष भामरे और जसवंत सिंह मंत्रीमंडल में शामिल हो सकते हैं। सांसद विजय गोयल, सीआर चौधरी, को भी मंत्री बनाया जा सकता है। इनके साथ-साथ फग्गन सिंह कुलस्ते, राजन गोहैन को भी मंत्री बनाया जा सकात है।

मोदी के मंत्रीमंडल के विस्तार की तैयारियां पूरी हो गई हैं। शपथ लेने वाले सभी सांसद राष्ट्रपति भवन पहुंच गए हैं।

 

 

मोदी कैबिनेट में शामिल हो रहे पुरुषोत्तम रूपाला बोले

 

 

अपना दल की नेता और मोदी के कैबिनटे में शामिल होने जा रहीं अनुप्रिया पटेल ने न्यूज़24 से बात करते हुए कहा कि बीजेपी और अपना दल के बीच दिलों का संबंध है। दोनों दलों को मिलकर 2017 का चुनाव फतह करना है। अपना दल ने एक बहुत लंबा सफर तय किया है। अपना दल के संस्थापक सोने लाल पटेल ने 1995 से लेकर 2009 तक संघर्ष किया है। लेकिन, मैं विश्वास दिलाना चाहती हूं कि जो भी दायित्व दिया जाएगा, उसका निर्वहन करूंगी।

कैबिनटे में मंत्री बनेने वाले मनसुख भाई और अर्जुन मेघवाल साइकिल से शपथ लेने पहुंच गए।

 

मंत्रीमंडल से बाहर होने वालों में संभावित नामों में से एक रमाशंकर कठेरिया ने कहा कि पार्टी के फैसले का सम्मान करूंगा। उन्होंने यह भी कहा कि पार्टी का निर्णय मेरे लिए सबक होगा। 

सूत्रों की मानें तो शपथग्रहण समारोह में आज शिवसेना के नेता शामिल नहीं होंगे। कहा जा रहा है कि इस बार विस्तार में पार्टी के किसी भी नेता के नहीं शामिल किये जाने से पार्टी खफा है।

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि कैबिनेट विस्तार का मकसद बजट का फोकस और प्राथमिकताएं दर्शाना है। लेकिन बात सिर्फ इतनी नहीं है।

इस कैबिनेट में यूपी, उत्तराखंड, गुजरात में अगले साल होने वाले चुनाव को ध्यान में रखकर भी मंत्रियों को शामिल किया गया है। जानकार कहते हैं कि यूपी में खासकर जातियों के गणित पर ध्यान रखा गया है।  

इस मंत्रीमंडल में11 राज्यों के 19 मंत्रियों को मोदी सरकार में शामिल किया जाने वाला है। जबकि कहा जा रहा है कि छह राज्य मंत्रियों की सरकार से विदाई होगी।