मोबाइल बना 'भगवान' यमराज के चंगुल से बचायी 15 जान

नई दिल्ली (31 जनवरी): क्या एक मोबाइल फोन किसी की जिंदगी बचा सकता है...जी हां, बचा सकता है... किसी एक की नहीं...मोबाइल फोन ने 15 जिंदगियों को बचाया है। छत्तीस दिन तक मौत के मुंह में रह कर 15 लोग वापस लौटे है। यह घटना चीन के पूर्वी प्रांत शैंगदौंग की है। पच्चीस दिसम्बर को शैंगदौंग की एक भूमिगत खान में 28 खनन कर्मचारी काम कर रहे थे कि अचानक आये भूकंप से खान ढह गयी और सभी कर्मचारी फंस गये।

जमीन के नीचे मची अफरा-तफरी में 13 कर्मचारी अपने बाकी साथियों से बिछुड़ गये। जमीन के ऊपर काम कर रहे लोगों ने खान में फंसे अपने साथियों के जीवित रहने की आस ही छोड़ दी थी कि इतने में ही खान में फंसी टोली में से एक कर्मचारी ने अपने मोबाइल फोन को ऑन किया तो सिग्नल मिलने लगे उसने फोन का जीपीआरएस चालू किया और अपनी लोकेशन ऊपर भेज दी।

बस, इसी एक संपर्क मिल जाने के बाद बचाव काम तेज कर दिया गया और 36 दिन लगातार चौबीस घंटे लगे रहने के बाद सभी 15 लोगों को जीवित निकाल लिया गया। इस रेस्क्यू ऑपरेशन में 1000 लोगों की स्पेशल टीम कर रही थी। मौत के मुंह से 36 दिन बाद बाहर आने के बाद कर्मचारियों की आंखों से आंसू रुकने का नाम ही नहीं ले रहे थे।