खबरदार! भारत में खतरनाक है मोबाइल बैंकिंग, खातों में लग सकती है सेंध

नई दिल्ली (13 दिसंबर): भारत में डिजिटल पेमेंट्स करना बहुत जोखिम भरा है। यूजर्स के पासवर्ल्ड एकाउंट्स डेटा हैक हो सकते हैं। भारत सरकार एक तरफ देश में मोबाइल फोन के जरिए डिजिटल पेमेंट्स को बढ़ावा देने पर जोर दे रही है, वहीं चिपसेट बनाने वाली कंपनी क्वालकॉम का कहना है कि भारत में कोई भी मोबाइल ऐप सुरक्षित नहीं है। कंपनी का कहना है कि भारत में कोई भी वॉलेट और मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन हार्डवेयर लेवल सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल नहीं करता है, जिससे ऑनलाइन ट्रांजैक्शन्स को अधिक सुरक्षित रखा जा सके।क्वालकॉम के सीनियर डायरेक्टर प्रॉडक्ट मैनेजर एसवाई चौधरी ने कहा, 'आपको आश्चर्य होगा कि दुनिया भर के अधिकतर बैंकिंग और वॉलेट ऐप्स हाईवेयर सिक्यॉरिटी का इस्तेमाल नहीं करते। वे पूरी तरह एंड्रॉयड मोड में चलते हैं और यूजर्स के पासवर्ड को आसानी से चुराया जा सकते है। यूजर्स के फिंगरप्रिंट्स को भी कैप्चर किया जा सकता है। भारत में डिजिटल वॉलेट्स और मोबाइल बैंकिंग ऐप्स के लिए यह बड़ी चिंता है।'