इस करोड़पति विधायक के पास नहीं है कार, बॉडीगार्ड को पीछे बैठा खुद चलाते हैं स्कूटर

नई दिल्ली ( 9 जनवरी ): भाजपा के मेरठ से विधायक और उत्तर प्रदेश के बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी के पास कार है, लेकिन वह अधिकतर स्कूटर की सवारी करते हैं। क्योंकि उनको स्कूटर अधिक पसंद है। यही वजह है कि वह आज भी शहर में जनता के बीच अपने स्कूटर से पहुंच जाते हैं। मेरठ ही नहीं वे लखनऊ की सड़कों पर भी स्कूटर चलाकर चर्चा में आ चुके हैं।

उनके पास साल 2012 में यूपी वि‍धानसभा चुनाव में दि‍ए एफि‍डेवि‍ट के मुताबिक ‍1 करोड़ 13 लाख 86 हजार 984 रुपए की कुल संपत्‍ति है। इनके नाम एक स्‍कूटर रजि‍स्‍टर्ड है। हालांकि‍ इनके डि‍पेंडेंट के पास एक स्‍कूटी भी है।

वह स्वयंसेवक हैं और संघ की शाखाओं में जाते हैं। विधायक चुने जाने के बाद भी उन्होंने अपने स्कूटर को नहीं छोड़ा और उसकी ही सवारी करते रहे। यहां तक कि शहर में वह किसी बैठक या जनता के बीच समस्‍याएं सुनने भी अपने स्कूटर से ही जाते हैं। अपने स्कूटर को वह स्वयं चलाते हैं और पीछे अपने गनर को बि‍ठा लेते हैं। कई बार वह गनर को छोड़कर अपने कार्यकर्ता के साथ चल देते हैं। लखनऊ में भी विधानसभा जाने के लिए डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी स्कूटर चलाकर पहुंचे और चर्चाओं में रहे।

काॅलेज के समय से ही कर रहे हैं राजनीति

डॉ. लक्ष्मीकांत बाजपेयी कॉलेज के दिनों में स्टूडेंट्स के हितों के लिए राजनीति करते रहे। अपने कॉलेज के दिनों में वह छात्र संघ के महासचिव भी रहे।

वे 14 साल की उम्र में ही जनसंघ में शामलि हो गए थे। मेरठ कॉलेज से बीएससी करने के बाद उन्‍होंने हरिद्वार के आयुर्वेद कॉलेज से बीएएमएस की डिग्री ली।

वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के दौरान वह बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष थे। उनके नेतृत्व में ही बीजेपी ने यूपी में फतह हासिल कर केंद्र में बीजेपी की सरकार बनने का रास्ता तय किया। इनकी पहचान एक सक्रिय और साफ छवि वाले एमएलए के रूप में होती है।