नहीं मिली सीट तो ट्रेन के फर्श पर सो गए कांग्रेस विधायक

नई दिल्ली (24 जुलाई): छत्तीसगढ़ कांग्रेस के विधायक को ट्रेन में सीट न मिलने पर जमीन पर ही सफर करते नजर आए। विधायक का आरोप है कि सूचना दिए जाने पर भी टीटीई ने उन्हें सीट नहीं दी। बार-बार कहने पर भी जब उन्हें बर्थ नहीं मिली तो कांग्रेस के तीन विधायकों ने जमीन पर सोकर अपना विरोध दर्ज करवाया। विधायक का आरोप है कि उनके कोटे की सीट बेच दी जाती हैं। जिसकी वजह से जनता के सेवरों को ट्रेन में बर्थ नहीं मिल पाती।

ये विधायक हैं छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज से बृहस्पति सिंह, सामरी से डॉ. प्रीतमराम और भटगांव से पारसनाथ राजवाड़े। इन्होंने 23 जुलाई को रायपुर में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में होने वाली सरगुजा विकास प्राधिकरण की बैठक में शामिल होने के लिए अंबिकापुर-दुर्ग एक्सप्रेस में एमएलए कोटे से एसी टू टायर कोच का टिकट 21 जुलाई को बुक कराया था।

इसके पहले इन नेताओं ने रेलवे के सीजीएम, डीआरएम सहित अन्य अधिकारियों को बाकायदा एसएमएस और फोन पर बात कर टिकट कन्फर्म करने की औपचारिकता भी पूरी की थी, लेकिन वह कन्फर्म नहीं हुए। विधायकों को उम्मीद थी कि ट्रेन में सवार होने के बाद टीटीई उनके प्रभाव से सीट आवंटित कर देगा, लेकिन ट्रेन में पहले से ही 18 वेटिंग चलने के कारण टीटीई ने भी बर्थ देने से इंकार कर दिया। इसके बाद विधायकों ने फर्श पर ही सफर करना सही समझा।