तमिलनाडु में स्टालिन और दिनाकरन बना सकते हैं गठबंधन सरकार: स्वामी

नई दिल्ली ( 27 अगस्त ): भाजपा नेता और राज्यसभा सदस्य सुब्रमण्यण स्वामी का कहना है कि एआईएडीएमके के पन्नीरसेल्वम-पलनिसामी धड़े के पास बहुमत न होने की स्थिति में अब डीएमके के नेता स्टालिन और एआईएडीएमके से अलग-थलग किए टीटीवी दिनाकरन अगले कुछ दिनों में तमिलनाडु में गठबंधन सरकार बनाएंगे। 

स्वामी ने रविवार को कहा, 'स्टालिन के 90 विधायक हैं और दिनाकरन के समर्थन में 22 विधायक हैं। अगर हम मुस्लिम लीग, सीपीआई के विधायकों को जोड़ दें और साथी ही अगर पलनीस्वामी सरकार को गिराने की चाहत रखने वाली पार्टियां अगर दिनाकरन के लिए वोट करती हैं तो पलनीस्वामी और पन्नीरसेल्वम के पास बहुमत के लिए 117 का आंकड़ा नहीं होगा।'

स्वामी ने कहा कि उनका मानना है कि दिनाकरन के विधायकों की संख्या बढ़कर 32 हो सकती है, क्योंकि कई विधायक उपचुनाव के पक्ष में नहीं हैं। दिनाकरन ने भी उपचुनाव न कराने का वादा किया है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता स्वामी ने साथ ही इस बात पर जोर दिया कि स्टालिन तमिलनाडु के सीएम बनेंगे और यह दिनाकरन पर है कि वह उप-मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं या पार्टी को बाहर से समर्थन देना चाहते हैं। 

बता दें कि 24 अगस्त को एआईएडीएमके के 19 विधायकों पार्टी से तब समर्थन वापस ले लिया था जब इसके दो धड़ों ने विलय का फैसला किया था। 19 विधायकों ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंप कर कहा था कि उनका मुख्यमंत्री में अब कोई भरोसा नहीं बचा है।