विश्व कप फाइनल में हारने के बाद मिताली राज ने अपने करियर को लेकर लिया बड़ा फैसला

नई दिल्ली(24 जुलाई): महिला विश्वकप फाइनल में इंग्लैंड के हाथों 9 रनों से हार के बाद भारतीय कप्तान मिताली राज ने अगले विश्वकप में खेलने से इन्कार कर दिया है। मैच के बाद टूर्नामेंट में दूसरे सबसे ज्यादा रन बनाने वाली खिलाड़ी और भारत की कप्तान मिताली राज ने मैच के बाद कहा कि, ‘ये मेरा आखिरी महिला क्रिकेट विश्वकप था, मैं अपले विश्वकप में टीम इंडिया का हिस्सा नहीं रहूंगी।’ हालांकि उन्होंने अभी क्रिकेट से संन्यास और कप्तानी छोड़ने को लेकर कोई भी बड़ा फैसला नहीं लिया।

- वहीं मिताली ने हार की वजह बताते हुए कहा, ‘मैच के दौरान एक वक्त पर मैच बिल्कुल बैलेंस चल रही था, लेकिन खेल के महत्वपूर्ण समय में टीम दबाव में आ गई और हमने लगातार विकेट गंवा दिए। जिसकी वजह से हमें हार का सामना करना पड़ा।’

- इतना ही नहीं कप्तान मिताली ने भारतीय टीम की भी जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि ‘मुझे मेरी टीम पर गर्व है, पूरी टीम ने टूर्नामेंट में बेजोड़ प्रदर्शन किया और किसी भी विरोधी टीम के लिए कोई भी मैच आसान नहीं होने दिया।’

- इसके अलावा मिताली ने कहा कि जिस तरह का सपोर्ट महिला क्रिकेट को विश्वकप के दौरान मिला है, इससे हमारी हौंसला अफज़ाई मिलती है, फाइनल के दौरान स्टेडियम के पूरे भरे होने से खिलाड़ियों को हौंसला मिलता है।-’

- साथ ही मिताली ने टीम की सबसे अनुभवी गेंदबाज़ी झूलन गोस्वामी की तारीफ करते हुए कहा कि ‘वो हमेशा अपना सर्वश्रेष्ठ देने की कोशिश करती हैं।’