वीरता पुरस्‍कार पा चुकी लड़की के साथ बदसलूकी, पुलिस ने नहीं सुनी तो CM से मांगी मदद

नई दिल्ली (8 सितंबर): मुख्यमत्री के प्रोत्साहन के बाद एक साहसी बेटी का अपने क्षेत्र में चल रहे सट्टे के अवैध कारोबार के खिलाफ आवाज उठाना भारी पढ़ गया। जहाँ उसके साथ बदतमीजी की गयी वहां काफी प्रयासों के बाद दर्ज हुए मुकद्दमे के बाद भी पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही। आगरा की इस बहादुर बेटी ने पुलिस के उत्पीड़न से परेशान होकर मुख्यमन्त्री से गुहार लगाई है।   मुख्यमन्त्री से पुलिस के उत्पीड़न की शिकायत करने वाली बहादुर बेटी और कोई नही बहादुरी के लिए महिला दिवस पर मुख्यमन्त्री के हाथो से सम्मान पा चुकी आगरा की नाजिया खान है। अभी अगस्त माह की दस तारीख को दिल्ली में एक निजी चैनल के कार्यक्रम में अक्षय कुमार भी नाजिया के गुणगान कर चुके हैं।नाजिया खान ने पिछले साल 7 अगस्त को दो बदमाशो द्वारा बच्ची का अपहरण होने से बचाया था।

नाजिया की बहादुरी के किस्से मुख्यमन्त्री अखिलेश यादव तक भी पहुंचे और उन्होंने नाजिया का उत्साह वर्धन करने के लिए लखनऊ में महिला दिवस 8 मार्च को रानी लक्ष्मी बाई सम्मान भी दिया। सम्मान मिलने के बाद नाजिया के दिल में अपराध का विरोध करने की इक्षा बलवती हो गयी थी। 

नाजिया की गली में ही कुछ दबंग सट्टे का कारोबार करते थे जिसके कारण दिन भर आपराधिक लोग आते थे और मोहल्ले का माहौल खराब करते थे। इसकी शिकायत मोहल्ले के निवासियों के साथ नाजिया ने कई बार पुलिस को दी लेकिन कोई कार्यवाही नहीं हुई। लेकिन शिकायत करना नाजिया को भारी पढ गया  दबंगों ने साहसी नाजिया के साथ अर्ले दर्जे की बदतमीजी भी कर डाली।   उस वक्त तो लगातार प्रयासों के बाद मुकद्दमा तो दर्ज हो गया। पर कार्यवाही आज तक नही हुई।एक बार नाजिया ने आरोपी खुद पकड़वाए पर पुलिस ने छोड़ दिए।रोजाना नाजिया के परिवार को धमकी मिलती है और डराया जाता है। आरोपी खुलेआम घुमते हैं पर पुलिस को नही मिलते हैं। नाजिया ने बताया कि हमने मुख्यमन्त्री जी को ट्वीट कर शिकायत की है उम्मीद है वो हमारी बात सुनेंगे।