Miracle: सर्जरी में निकला आधा ब्रेन; फिर भी जिंदा है, हर काम कर सकता है

नई दिल्ली (28 फरवरी): क्या आपने कभी सुना हैं कि किसी का आधा दिमाग शरीर से निकाल दिया जाए उसके बाद भी जीवित रहते हुए हर काम ठीकठाक कर सके?

भले ही आपको ये सवाल हैरान करे, लेकिन ऐसा ब्रिटेन में हकीकत में संभव हुआ है। यहां डॉक्टरों ने रेयर सिंड्रोम से पीडि़त पांच साल के लिंकन फ्रीमैन का आधा दिमाग निकाल दिया है। इस खतरनाक सर्जरी के बाद डॉक्टरों का मानना था कि लिंकन कभी बोल, चल नहीं पाएगा। लेकिन डॉक्टर्स का अनुमान गलत साबित हुआ। लिंकन पूरी तरह फिट है और हर काम कर सकता है।

ब्रिटिश अखबार 'मिरर' की रिपोर्ट के मुताबिक, लिंकन फ्रीमैन की उम्र सिर्फ पांच साल है। उसके चेहरे पर जन्म से ही लाल रंग का निशान था। इससे धीरे धीरे उसका पूरा चेहरा खराब हो रहा था। डॉक्टरों ने एमआरआई स्कैन किया तो पाया कि उसके दिमाग में कुछ समस्या है। मेडिकल चेकअप के बाद पता चला कि लिंकन स्ट्रूज बेवर सिंड्रोम से पीडि़त था। इस वजह से उसे दिन में 80 से भी ज्यादा बार दौरा पड़ता था।

डॉक्टरों के मुताबिक, यह सिंड्रोम बच्चों में जन्म से ही पाया जाता है। इसमें नर्वस सिस्टम प्रभावित होता है। साथ ही बर्थमार्क भी पाए जाते हैं। इससे ब्रेन हैमरेज का भी खतरा रहता है। लिंकन में इस अजीब सी बीमारी का पता चलने के बाद डॉक्टरों ने उसका आधा दिमाग हटाने का फैसला किया। लिंकन को पहले साल डॉक्टरों की देखरेख में लंदन के ग्रेट ऑर्मंड स्ट्रीट हॉस्पिटल में रखा गया। 13वें महीने में उसका ऑपरेशन किया गया। यह ऑपरेशन आठ घंटे चला।

सर्जरी के बाद लिंकन की मां किम रैटक्लिफ ने खुशी के साथ इस बारे में बताया। उन्होंने कहा कि लिंकन बहुत ही बहादुर निकला, वह दूसरे बच्चों के लिए प्रेरणा है। उसने हमें बदल दिया है, हमें उस पर गर्व है।