पाकिस्तान में प्रेमी जोड़े की मदद करने वाली लड़की को पेट्रोल छिड़क कर जिंदा जलाया

नई दिल्ली (5 मई): पाकिस्तान में तालिबान स्टाइल में लोगों को सजा देने का सिलसिला बदस्तूर जारी है। एबोटाबाद में ज़िरगा ने सोलह साल की एक लड़की को उसके घर से खींच कर जला कर मार डालने की सजा सुना दी। ज़िरगा के तालिबानी फरमान को उसके कारिंदों ने अंजाम भी दे दिया। 'डान' के मुताबिक अम्बर नाम की लड़की पर आरोप था कि उसने अपनी एक सहेली को अपनी मर्जी से शादी करने के लिए भागने में मदद की थी।

ग्राम सभा सदस्य परवेज़ ने 15 सदस्यी ज़िरगा को बुलाया और फरमान सुनाया कि अम्बर  को जिंदा जला दिया जाये। बस, इसी फरमान पर अम्बर को पहले एक खण्डहर में ले जाया गया। जहां उसे नशीली दवाएं दी गयीं,फिर उसको एक पुरानी वैन की सीट पर बांधा और पेट्रोल डाल कर जिंदा जला दिया। पुलिस ने इस मामले में 13 आरोपियों को गिरफ्तार कर आतंक निरोधी अदालत के सामने पेश किया है।