विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट: सेमीफाइनल में रोजर फेडरर को मिली हार

लंदन (9 जुलाई): विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट के मेन्स सिंगल्स सेमीफाइनल में कनाडा के मिलोस राओनिक ने स्विटजरलैंड के रोजर फेडरर को हराकर 18वें ग्रेंडस्लैम खिताब से दूर कर दिया। हाईवोल्टेज इस मैच को मिलोस ने 6-3, 6-7, 4-6, 7-5, 6-3 से जीता।

बता दें कि फाइनल में उनका सामना ब्रिटेन के एंडी मरे से होगा, जिन्होंने दूसरे सेमीफाइनल में चेक रिपब्लिक के टॉमस बेर्डिच को 6-3, 6-3, 6-3 से हराया। फेडरर पर जीत के बाद राओनिक विंबलडन के फाइनल में पहुंचने वाले कनाडा के पहले प्लेयर बन गए हैं। उनका यह पहला ग्रेंडस्लैम फाइनल है।

हालांकि, स्विट्जरलैंड के स्टार टेनिस खिलाड़ी रोजर फेडरर ने 11वीं बार विंबलडन टेनिस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचते ही ग्रैंडस्लैम में सर्वाधिक जीत दर्ज करने का नया रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया था। 

फेडरर के रिकॉर्ड्स स्विस स्टार फेडरर की यह विंबलडन में 84वीं और ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंटों में 307वीं जीत है। इस तरह से उन्होंने मार्टिना नवरातिलोवा के 306 मैचों में जीत के रिकॉर्ड को तोड़ा। वह 40वीं बार किसी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में पहुंचे हैं। इस तरह से उन्होंने रिकॉर्ड आठवें विंबलडन खिताब की अपनी उम्मीद बरकरार रखी है। वह 1974 में 39 वर्षीय केन रोजवाल के बाद विंबलडन सेमीफाइनल में पहुंचने वाले सबसे उम्रदराज खिलाड़ी भी बन गए हैं।