OMG! समंदर में यहां दफ्न है अमेरिकी सेना का 'करोड़ों का खजाना'

नई दिल्ली (28 जुलाई): प्रशांत महासागर में एक जगह ऐसी है, जहां अमेरिकी सेना के कई बड़े इक्विपमेंट्स का कीमती भंडार मौजूद है। लेकिन ये भंडार आज का नहीं, बल्कि सात दशक पुराना है। 

- 'मेलऑनलाइन' की रिपोर्ट के मुताबिक, ये भंडार दूसरे विश्व युद्ध के समय का है। - भंडार में मौजूद अमेरिकी सेना के उपकरणों की कीमत करोड़ों डॉलर की है। इसीलिए इसे "मिलियन डॉलर प्वाइंट" कहा जाता है।

- इनमें बुलडोजर्स, जीप्स, ट्रक्स, फोर्क लिफ्ट्स, ट्रैक्टर्स, कपड़े, लोहा यहां तक कि कोक बॉटल्स भी मौजूद हैं। - दूसरे विश्व युद्ध के खत्म होने के बाद 1940 के दशक के अंत में अमेरिका ने इन्हें बेचने के लिए डील करने की कोशिश की थी। लेकिन उसमें असफल रहा।

- अमेरिकी सेना ने जापान पर हमला करने के लिए एस्प्रितो सान्तो, वैनुआतो को अपना बेस बनाया था। - जब स्थानीय लोगों को ये सामान बेचने में अमेरिका नाकामयाब रहा, तो इसे वापस ले जाने में होने वाले खर्चे की तुलना में अमेरिका को इन्हें समुद्र में डंप कर देना सस्ता लगा। फिर अमेरिका ने यही किया।

- तब से ये सारा मिलिट्री का खजाना यहां पड़ा हुआ है। - इस स्थान पर आज भी गोताखोर जाया करते हैं।