Microsoft का ऑपरेटिंग सिस्टम Windows 10 S लॉन्च, जानें खास बातें

नई दिल्ली ( 3 मई ): Microsoft ने मंगलवार को नए ऑपरेटिंग सिस्टम Windows 10 S को लॉन्च कर दिया। ये OS एजुकेशन फोकस्ड है। इस नए ऑपरेटिंग में केवल पहले से इंस्टाल किए गए ऐप्लिकेशन या विंडोज स्टोर से डाउनलोड किए गए ऐप्लिकेशन ही काम करेंगे। कहा जा रहा है कि ये माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से गूगल Chrome OS के जवाब के रुप में लॉन्च किया गया है, जो कि एक क्लाउड बेस्ड ऑपरेटिंग सिस्टम है और स्कूलों में काफी पॉपुलर है।


Windows 10 S को PC के लिए गर्मियों के दौरान ही $189 करीब 12 हजार रुपये में लॉन्च किया जाएगा। कंपनी ने इस विंडोज की सारी जानकारी न्यू यॉर्क में शिक्षा पर केंद्रित एक कार्यक्रम के दौरान दिया। कंपनी ने S का मतलब 'सोल' (SOUL) बताया है। ये OS क्लास रुम के अंदर और बाहर दोनों ही जगह पर क्रिएटिव उपयोग के लिए बनाया गया है।


विंडोज 10 में केवल प्री इंस्टाल्ड ऐप्स और विंडोज स्टोर से डाउनलोड किए गए ऐप्स ही चलेंगे। मायर्सन ने बताया कि, ऐसा सेफ्टी और सिक्योरिटी के लिए किया गया है। उन्होंने ये भी बताया कि Office 365 जल्द ही विंडोज स्टोर में आने जा रहा है। Windows 10 S आने वाले मिक्सड रिएलिटी हेडसेट्स और बाकी आने वाली टेक्नोलॉजी के साथ भी काम करेगा।


अगर कोई इस ऑपरेटिंग सिस्टम में वैसे सॉफ्टवेयर इंस्टाल करने की कोशिश करेगा जो विंडोज स्टोर में मौजूद नहीं है तो विंडोज उसके बदले विंडोज में मौजूद उसी तरह के ऐप की जानकारी खुद ही दे देगा। हालांकि अगर एडमिनिस्ट्रेटर को ऐसा लगे कि और भी ज्यादा ऐप्स इस्तेमाल करना है जो विंडोज स्टोर में उपलब्ध नहीं है। ऐसी स्थिति में यूजर Windows 10 Pro के लिए अपग्रेड कर सकता है।


Windows 10 S को किसी भी लैपटॉप में चलाया जा सकता है जिसमें रेगुलर विंडोज 10 चलता हो। माइक्रोसॉफ्ट ने इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम के लिए Acer, Asus, Dell, Fujitsu, HP, Samsung और Toshiba के साथ पार्टनरशिप किया है। एजुकेशन के लिए Office 365 स्टूडेंट्स और टीचर्स के मुफ्त रहेगा और Windows 10 S उन सभी स्कूलों के लिए उपलब्ध रहेगा जहां Windows 10 Pro PCs हैं।