जाकिर के फाउंडेशन को कहां से होती है फंडिंग, होगी जांच

नई दिल्ली (12 जुलाई): ढ़ाका आतंकी हमलों के बाद विवादों से घिरे इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक की संस्था के फाइनैंसियल रिकॉर्ड्स की जांच सरकार ने शुरू कर दी है। पिछले सालों में नाइक की संस्था को कितना दान मिला सरकार इसकी जांच कर रही है।

रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रिटेन में रजिस्टर्ड इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन इंटरनेशनल (आईआरएफआई) को 2012 तक 15 करोड़ रुपए डोनेशन में मिले। जिसमें ज्यादातर डोनेशन ब्रिटेन और सऊदी अरब से मिला। गृह मंत्रालय को फॉरेन कॉन्ट्रीब्यूशन रेगुलेशन एक्ट के तहत आईआरएफआई की ओर से दी गई सूचनाओं की जांच की जा रही है। इसमें देखा जाएगा कि पैसों का खर्च जिस मकसद के लिए दिखाया गया, उसी लिए इस्तेमाल हुआ कि नहीं!

गौरतलब है, बांग्लादेश की तरफ से जाकिर नाइक के भाषणों और लेखन की जांच के लिए कहे जाने के बाद से भारतीय कानूनी एजेंसियां जाकिर नाइक से जुड़ी जांच में जुट गई हैं। ऐसा दावा किया गया है कि ढ़ाका में हाल ही में हुए हमलों में शामिल एक आतंकी नाइक के भाषणों से प्रभावित था।