मेक्सिको: तेल पाइपलाइन में हुए धमाके से 73 लोगों की मौत, 74 घायल

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (20 जनवरी):  मेक्सिको में तेल पाइपलाइन में हुए धमाके में अब तक 73 लोगों की मौत हो गई है और 74 लोग घायल हो गए हैं।  माना जा रहा है कि हिडालगो राज्य के तलाहुलिलपान शहर में संदिग्ध तेल चोरों ने पाइपलाइन को तोड़ दिया था, जिसके बाद शुक्रवार रात यह धमाका हुआ। पाइपलाइन में उस समय आग लग गई, जब कई लोग वहां लीक हो रहे तेल को इकट्ठा कर रहे थे. इस दौरान सशस्त्र बल भी वहां मौजूद थे। हिडालगो के गवर्नर उमर फयाद ने कहा कि धमाके के बाद आग लग गई।

मेक्सिको के राष्ट्रपति एंड्रेस मैनुएल लोपेज ओब्रेडर ने इस हादसे के बाद ईंधन चोरी को रोकने के लिए उपाय करने का संकल्प लिया है। उन्होंने 27 दिसंबर को एक कार्रवाई शुरू की थी और पाइपलाइन को अस्थायी तौर पर बंद करने के आदेश दिए थे, ताकि तेल चोरी को रोक कर भारी कर्ज में डूबी राज्य की तेल कंपनी पेट्रोलियोस मेक्सिकैनोस (पेमेक्स) को हो रहे अरबों डालर के नुकसान से बचाया जा सके। सार्वजनिक सुरक्षा मंत्री अलफोंसो दुरैजो ने कहा कि वहां बहुत ज्यादा लोग थे और समस्या से बचने के लिए सेना व सैन्य कर्मियों को वहां से हटा लिया गया था। उन्होंने कहा कि जब वे (सुरक्षाकर्मी) वहां से हट रहे थे, तभी धमाका हो गया।

मेक्सिको सरकार के मुताबिक तेल चोरी के कारण बीते साल मेक्सिको को 210 अरब रुपये का नुकसान हुआ था।  दिसंबर में मेक्सिको के राष्ट्रपति बनने वाले एंड्रेस मैनुएल लोपेज़ ओब्राडोर ने तेल चोरी के खिलाफ एक बड़ा अभियान शुरू किया है. यहां की सरकारी तेल कंपनी पेमेक्स ने अपने बयान में कहा कि ये आग पाइपलाइन में अवैध ढंग से छेद किए जाने की वजह से लगी है। पाइपलाइनों की सुरक्षा के लिए हज़ारों मरीन सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया।

हिडाल्गो के गवर्नर उमर फयाद ने बताया कि स्थानीय लोग पाइपलाइन से हो रहे रिसाव वाले स्थान पर तेल चुराने के लिए जमा थे, तभी आग लग गई। फयाद ने कहा, 'हमें पता चला है कि यहां से ईंधन चुराया जाता था और आग लगने के बाद अधिकारियों को इसकी जानकारी मिली, दमकल विभाग के संघीय तथा सरकारी कर्मी और सरकारी ईंधन कंपनी 'पेमेक्स' की एंबुलेंस पीड़ितों की सहायता करने मौके पर पहुंची, ये हादसा ऐसे समय हुआ है, जब मेक्सिको के राष्ट्रपति एंद्रेस मैनुएल लोपेज ईंधन चोरी को लेकर राष्ट्रीय स्तर पर अपनी योजनाओं को क्रियान्वित करने की योजना बना रहे हैं।'