मेट्रो में हंगामा करना पड़ेगा महंगा!

नई दिल्ली(15 जनवरी): निकट भविष्य में मेट्रो के संचालन में बाधा डालने वालों को 4 साल की जेल और 50 हजार रुपये जुर्माने की सजा सुनवाई जा रही है। अब मेट्रो में शराब पीकर हंगामा करने पर 5 हजार का जुर्माना भरना पड़ सकता है।

- अब तक इस तरह के मामले में 200 रुपये का जुर्माना ही होता था।

- नारा लगाने वालों पर 15 हजार रुपये और मेट्रो में जबरन घुसने पर 10 हजार रुपये का जुर्माना लगाया जा सकता है।

- अगर बिना वजह ट्रेन में कोई अलार्म बजाता है तो उसके लिए भी जुर्माने की राशि 2 हजार रुपये से बढ़ाकर 10 हजार रुपये की जा सकती है।

- मेट्रो रेल बिल के ड्राफ्ट पर सभी मंत्रालयों से राय मांगी गई, बाद में इस बिल को कैबिनेट में पेश किया जाएगा।

- सरकार ने मेट्रो रेल बिल का जो ड्राफ्ट तैयार किया है, उसमें अधिकतम 50 हजार तक के जुर्माने का प्रावधान है। अभी अधिकतम 5 हजार रुपये का ही जुर्माने का नियम है।

- ड्राफ्ट में कहा गया है कि खतरनाक सामान लेकर मेट्रो में यात्रा करने पर 4 साल की सजा या 5 हजार का जुर्माना लगाया जा सकता है। अगर खतरनाक सामान ले जाने से कुछ नुकसान हुआ तो उसकी भरपाई भी दोषी व्यक्ति से ही कराई जाएगी। अब कुछ मामलों में 5, 10 और 15 हजार रुपये जुर्माना करने का भी प्रावधान किया गया है।