''वेल्लोर के कॉलेज में उल्कापिंड से हुआ था धमाका''

चेन्नई 8 फरवरी: वेल्लोर के एक इंजीनियरिंग कॉलेज कैम्पस में हुए धमाके के बारे में तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने कहा कि यह एक्सप्लोजन उल्कापिंड (मीटियोराइट) की वजह से हुआ था।

सीएम ऑफिस से जारी बयान में यह पुष्टि की गई है कि कॉलेज परिसर में हुए धमाके की जांच में अधिकारियों को उल्कापिंड का टुकड़ा बरामद हुआ है। राज्य सरकार ने मृत ड्राइवर के परिवार को 1 लाख रुपए, जबकि घायलों को 25-25 हजार रुपए का मुआवजा देने की घोषणा की है।

क्‍या था मामला: नतारामपल्ली के भारतीदसान प्राइवेट इंजीनियरिंग कॉलेज के परिसर में शनिवार दोपहर करीब तीन बजे धमाका हुआ। कॉलेज बसों के पास कुछ लोग खड़े हुए थे। जब धमाका हुआ तो एक ड्राइवर की इसमें मौत हो गई,जबकि तीन लोग घायल हो गए। इसके साथ ही कई बसों के शीशे टूट गए और कॉलेज की बिल्डिंग के एक हिस्से को भी नुकसान पहुंचा। धमाके के बाद वहां दो फुट गहरा गड्ढा बन गया। मौके पर मौजूद लोगों का कहना था कि आसमान से कोई ऑब्जेक्ट गिरा। शुरुआत में पुलिस भी धमाके की वजह नहीं बता पाई थी, बाद में जब अफसरों ने इसकी जांच की तो उल्कापिंड का टुकड़ा बरामद हुआ।