इस देश में महिलाओं के गुलाम होते हैं पुरुष...

नई दिल्ली (31 जुलाई): दुनिया में औरतों और पुरुषों को समान हक मुहैया कराए जाने की बात कही जाती है। लेकिन कुछ देशों में महिलाओं को दबाकर रखा जाता है। ऐसे बहुत से देश हैं, जहां पर महिलाओं को पुरुषों के बराबर हक नहीं मिले और आपने ऐसी खबरों के बारे में भी बहुत सुना होगा। लेकिन आज हम आपको ऐसे देश के बारे में बताएंगे जहां सिर्फ महिलाएं ही हैं और पुरुषों को जानवर ही समझा जाता है।

महिलाएं ही इस देश की नागरिकता ले सकती हैं और इसके लिए वहां की महारानी ने कुछ नियम बनाए हैं...

- अदर वर्ल्ड किंगडम ये उस देश का नाम है, जहां महिलाएं करती हैं राज और पुरुष करते हैं उनकी गुलामी। - यहां की मूल नागरिक सिर्फ महिलाएं ही हैं और पुरुषों को जानवर ही समझा जाता है। यहां पुरुषों को महिलाएं गुलामी के लिए ही रखती हैं। गुलाम को अगर शराब पीना होता है तो वो पहले मा‍लकिन के पैरों पर डाली जाती है और इसके बाद ही गुलाम उसे पी सकता है। - 'वुमन ओवर मेन' मोटो वाला ये देश 1996 में यूरोपियन देश चेक रिपब्लिक से बना था, लेकिन इसे अन्य राष्ट्रों ने देश का दर्जा नहीं दिया है। - इस देश का पूरा शासन महारानी पैट्रिसिया-1 के हाथ में है और उनको ही देश के कानून में परिवर्तन करने का अधिकार है। हालांकि महारानी पैट्रिसिया-1 का चेहरा आज तक बाहरी दुनिया में किसी ने नहीं देखा है। - दूसरे देश से आने वाले पुरुषों को यहां रानी के बैठने के लिए सोफा बनना पड़ता है। - 3 हेक्टयर यानी 7.4 एकड़ की जमीन पर बने इस देश की राजधानी ब्लैक सिटी है और इसका अपना झंडा, करेंसी, पासपोर्ट और पुलिस फोर्स है। - इस देश के निर्माण में दो मिलियन डॉलर (12 करोड़ रुपए) की लागत आई थी।

इस देश की नागरिकता के लिए यह है नियम: - महिलाएं ही इस देश की नागरिकता ले सकती हैं, जिसके लिए महारानी ने कुछ नियम बनाए हैं। - उस महिला को नागरिकता दी जाएगी, जो अपनी सहमति से संबंध बनाने की उम्र तक पहुंच गई हो। - उस महिला को नागरिकता दी जाएगी, जिसके पास कम से कम एक पुरुष नौकर हो। - नागरिकता लेने वाली महिला को अदर वर्ल्ड किंगडम के सभी नियमों का पालन करना होगा। - नागरिकता लेने के लिए महिला को कम से कम 5 दिन महारानी के महल में बिताने होंगे।