इशांत, बुमराह और शमी की 'तिगड़ी' ने तोडा 39 साल पुराना रिकॉर्ड


न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (28 दिसंबर): भारत और ऑस्‍ट्रेलिया के बीच मेलबर्न क्रिकेट ग्राउंड में खले जा रहे तीसरे बॉक्सिंग डे टेस्‍ट मैच में टीम इंडिया ने अपना दबदबा बना लिया है। 1985 में ऑस्‍ट्रेलिया के साथ पहली बार बॉक्सिंग टेस्‍ट खेलने वाली भारतीय टीम का मेलबर्न में 37 साल बाद दबदबा साफ तौर पर दिखाई दे रहा है। तीसरे दिन टी ब्रेक तक ऑस्ट्रेलिया के सात बल्लेबाज़ 145 के स्कोर पर पवेलियन वापस लौट चुके हैं।  आपको बता दें कि भारत ने ऑस्‍ट्रेलिया के खिलाफ अब तक सात बॉक्सिंग डे टेस्‍ट खेले हैं, जिसमें से उसे पांच बार हार मिली है तो दो टेस्‍ट ड्रॉ रहे हैं, लेकिन पहली बार भारत के जीतने की उम्‍मीद दिखाई दे रही है। भारत को इस स्थिति में लाने के लिए बल्‍लेबाजों के बाद गेंदबाजों ने दम दिखाया है,खासकर तेज गेंदबाजों ने.जबकि भारतीय गेंदबाजों ने टेस्‍ट क्रिकेट के इतिहास में पहली बार एक कैलेंडर ईयर में 250 विकेट लेने का कारनामा किया है।




भारत ने तीसरे दिन ऑस्‍ट्रेलिया के 7 बल्‍लेबाजों को पवेलियन लौटा दिया है, जिसमें एरॉन फिंच, मार्कस हैरिस, उस्‍मान ख्‍वाजा, शॉन मार्श, ट्रेविस हेड, मिचेल मार्श और पैट कमिंस शामिल हैं। जबकि जसप्रीत बुमराह ने तीन तो रविंद्र जडेजा ने दो विकेट झटके हैं। वहीं ईशांत शर्मा और मोहम्‍मद शमी ने एक-एक विकेट अपने नाम किया है।




भारत की तेज गेंदबाजों की तिगड़ी (इशांत, बुमराह और शमी) ने साल 2018 में 126 विकेट अपने नाम कर लिए हैं। यह ना सिर्फ भारत बल्कि एक कैलेंडर ईयर में सर्वोच्‍च प्रदर्शन करने वाली टेस्‍ट क्रिकेट की दूसरी तिगड़ी बन गई है बल्कि इन तीनों ने मोर्ने मोर्कल, मखाया नतिनी और डेल स्‍टेन को पछाड़ा है, जिन्‍होंने 2008 में 123 शिकार किए थे। हालांकि एक कैलेंडर ईयर में सर्वोच्‍च प्रदर्शन करने का रिकॉर्ड कैरेबियाई तिगड़ी के नाम है, जिसमें जोएल गार्नर, माइकल होल्डिंग और मैल्‍कम मार्शल शामिल हैं। इन तीनों ने 1984 में 130 खिलाड़ियों को अपना शिकार बनाया था।


मेलबर्न में अपने पहले विकेट का इंतजार कर रहे मोहम्‍मद शमी ने इस साल अब तक 12 टेस्‍ट मैचों में 26.44 के औसत से 45 शिकार किए हैं और वह टॉप 5 में शामिल इकलौते भारतीय हैं। जबकि बुमराह ने अब तक नौ मैच में 22.69 के औसत से 42 विकेट तो इशांत शर्मा ने 11 मैच में 21.66 के औसत से 39 विकेट उखाड़े हैं।  यकीनन यह भारतीय क्रिकेट इतिहास की सर्वश्रेष्‍ठ तिगड़ी बन गई है।


जसप्रीत बुमराह ने इसी साल टेस्‍ट डेब्‍यू किया था और वह डेब्‍यू कैलेंडर ईयर में सर्वाधिक विकेट (42) लेने वाले गेंदबाज़ बन गए हैं। इससे पहले 1979 में दिलीप दोषी ने 40 विकेट लिए थे।  भारतीय गेंदबाजों (तेज और स्पिन) ने इस साल टेस्‍ट क्रिकेट में 24.83 के औसत से 250 विकेट लिए हैं, जो कि उसका 1932 से लेकर अब तक सर्वोच्‍च प्रदर्शन है। इससे पहले भारत ने 1979 में 31.77 के औसत से 249 विकेट अपने नाम किए थे।