महबूबा मुफ्ती बोलीं-इमरान खान को एक और मौका मिलना चाहिए

                                                                              Image: Google



न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 फरवरी): पुलवामा हमले के पांच दिन बाद पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने इसपर अपनी चुप्पी तोड़ी है। इमरान खान ने कहा कि पुलवामा में अटैक कराकर पाकिस्तान का कोई फायदा नहीं होने वाला था, तो वो भला ऐसा क्यों कराएगा। उन्होंने ये भी कहा कि जिस समय पुलवामा में हमले को अंजाम दिया गया उस समय पाकिस्तान सऊदी अरब के राजकुमार की बहुप्रतीक्षित विजिट की तैयारियों में लगा हुआ है. ऐसे मौके पर हमला कराने की बेवकूफी पाकिस्तान क्यों करेगा। 






इमरान खान के बयान पर जम्मू-कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री और पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने ट्वीट किया। उन्होंने लिखा, मैं सहमत नहीं हूं। पाकिस्तान को पठानकोट का डोजियर दिया गया था लेकिन अपराधियों को दंडित करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया गया। साथ ही उन्होंने लिखा, टाइम टू वॉक द टॉक। लेकिन पाकिस्तान के प्रधानमंत्री को एक चांस मिलना चाहिए क्योंकि उन्होंने हाल ही में पद संभाला है। बेशक चुनावों की तुलना में  युद्ध संबंधी बयानबाजी अधिक हो रही है। 










गौरतलब है कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने को भारत को भरोसा दिलाया कि यदि भारत पुलवामा आतंकवादी हमले में कार्रवाई योग्य खुफिया जानकारी साझा करता है तो साजिशकर्ताओं के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने साथ ही चेतावनी दी कि उनके देश के खिलाफ कोई भी कार्रवाई किए जाने पर उसका जवाब दिया जाएगा। खान ने कश्मीर में गुरुवार को हुए आतंकवादी हमले में पाकिस्तान का हाथ होने के भारत के आरोपों पर राष्ट्र के नाम पैगाम में एक वीडियो संदेश के जरिए प्रतिक्रिया दी।






इससे पहले इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान क्षेत्र में स्थिरता चाहता है। उन्होंने कहा कि वह यह बात समझते हैं कि भारत में इस साल चुनाव होने हैं और पाकिस्तान को दोषी ठहराकर लोगों के वोट हासिल करना आसान हो जाएगा। उन्होंने उम्मीद जताई कि बेहतर समझ विकसित होगी और भारत वार्ता करने के लिए तैयार होगा। खान ने कहा कि जब भी कश्मीर में कोई घटना होती है, तो भारत पाकिस्तान को जिम्मेदार ठहराता है और पाकिस्तान को बार-बार बलि का बकरा बनाता है। उन्होंने कहा, अफगानिस्तान मामले की तरह कश्मीर मामला भी वार्ता के जरिए सुलझाया जाएगा।




इमरान ने कहा, यदि आपके पास किसी पाकिस्तानी की संलिप्तता के बारे में ऐसी कोई खुफिया जानकारी है जिसके आधार पर कार्रवाई की जा सकती है, तो वह जानकारी हमें दीजिए। मैं आपको भरोसा दिलाता हूं कि हम कार्रवाई करेंगे। हम ऐसा इसलिए नहीं करेंगे क्योंकि हम दबाव में हैं, बल्कि हम इसलिए ऐसा करेंगे क्योंकि वे पाकिस्तान के दुश्मनों की तरह काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा, मैं भारतीय मीडिया के माध्यम से सुन और देख रहा हूं कि नेता पाकिस्तान से बदला लेने की अपील कर रहे हैं। यदि भारत सोचता है कि वह पाकिस्तान पर हमला करेगा, तो हम केवल सोचेंगे नहीं बल्कि जवाब देंगे।