पीएम मोदी से मिलीं महबूबा, कहा- बातचीत जरूरी

नई दिल्ली ( 24 अप्रैल ): कश्मीर में खराब हालातों और पीडीपी-बीजेपी गठबंधन में आई तल्खी के बीच राज्य की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने सोमवार को पीएम मोदी से मुलाकात की। करीब आधे घंटे तक चली इस मीटिंग में कश्मीर में पत्थरबाजी की बढ़ती घटनाओं के साथ ही राज्य में सत्तारूढ़ गठबंधन को बचाने पर भी बातचीत हुई। मोदी के बाद मुफ्ती ने गृह मंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात की। उन्होंने इस मुलाकात के बाद दो-तीन महीने में घाटी के हालात बदलने का भरोसा दिलाया।


महबूबा मुफ्ती ने कहा कि राज्य में गठबंधन और राज्य के हालात को लेकर बातचीत हुई। महबूबा ने कहा कि मैंने पीएम मोदी से कहा कि किसी न किसी लेवल पर बातचीत जरूरी है और कश्मीर का हल वाजपेयी की नीति से निकाला जाए। उन्होंने प्रधानमंत्री से कहा कि केंद्र को राज्य के कल्याण के बारे में गंभीरता से विचार करना चाहिए।


महबूबा मुफ्ती ने कहा कि सिंधु जल समझौते से कश्मीर को नुकसान है। पीएम मोदी ने इसपर विचार करने की बात कही। पत्थरबाजी के मुद्दे पर भी पीएम मोदी से बातचीत हुई। मुफ्ती ने कहा कि पत्थरबाजों को उकसाया जा रहा है। पत्थरबाजी और गोली के बीच बातचीत नहीं हो सकती। वहीं राज्य में राज्यपाल शासन लगाने के सवाल पर महबूबा ने कहा कि ये केंद्र से पूछा जाना चाहिए।


महबूबा ने कहा कि मोदी बार-बार पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी के रास्ते पर चलने की बात कह चुके हैं। सीएम के मुताबिक, वाजपेयी की पॉलिसी बातचीत थी, टकराव नहीं। बातचीत के जरिए मामले सुलझाने पर जोर देते हुए उन्होंने कहा, 'जम्मू-कश्मीर में पहले वाजपेयी साहब के टाइम में बात हुई थी। एलके आडवाणी डेप्युटी पीएम थे। हुर्रियत के साथ बात हुई है। दूसरों से भी बात हुई है।'