सऊदी में ये महिला बनी पहली सर्टिफाइड योग टीचर

नई दिल्ली (15 नवंबर):  इस्लामिक देश सऊदी अरब ने बड़ा फैसला लेते हुए योग को एक खेल के तौर पर आधिकारिक मान्यता दे दी है। देश में अब लाइसेंस लेकर सऊदी अरब में योग सिखा सकेंगे। इसके साथ ही योग शिक्षक नोफ मारवाई पहली सर्टिफाइड योग शिक्षक बन गई हैं। नोफ मारवाई कहती हैं कि योग के कारण ही वह कैंसर से लड़ पाई हैं।

कौन है नोफ मारवाई

नोफ मारवाई नामक एक महिला को सऊदी अरब की पहली योग प्रशिक्षक का दर्जा भी मिल गया है। योग को खेल के तौर पर सऊदी में मान्यता दिलाने का श्रेय भी नोफ को ही जाता है।

नोफ मारवाई ने 19 साल की उम्र से योग करना शुरू कर दिया था। उस दौरान उन्हें भारतीय योग गुरुओं ने भी इस कला के बारे में मार्गदर्शन दिया।

नोफ ने इसके लिए लंबे समय तक अभियान चलाया था। अरब योगा फाउंडेशन की फाउंडर नोफ का मानना है कि योग और धर्म के बीच किसी तरह का कॉन्फ़्लिक्ट नहीं है। आपको बता दें कि 27 सितंबर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में योग को वैश्विक तौर पर स्वीकृति मिली थी और 21 जून को हर साल विश्व भर में योग दिवस मनाया जाता है।