WATCH: लव, सेक्स और धोखे की कहानी

शिवप्रकाश, प्रशांत गुप्ता, नई दिल्ली (22 जून): मेरठ का हाईप्रोफाइल ट्रिपल मर्डर केस सुलझने के बजाए और उलझता जा रहा है। पुलिस की चार टीमें एक हफ्ते से इस मर्डर मिस्ट्री की जांच में जुटी हैं। पुलिस को अभी तक कातिल का तो कुछ पता नहीं चला है, लेकिन मर्डर मिस्ट्री के पीछे लव, सेक्स और धोखे की कहानी के सुराग मिल रहे हैं।

मेरठ का हाईप्रोफाइल ट्रिपल मर्डर केस उलझते तारों का इंद्रजाल बन गया है। पुलिस की चार टीमें इस केस को वर्कआउट करन में लगी हैं। पुलिस की अब तक की तफ्तीश इशारा कर रही है कि तीन हत्याओं के पीछे सेक्स रैकेट का कनेक्शन है। हालांकि पुलिस कातिल को पकड़ने के बाद ही इस लिंक कंफर्म करने की बात कर रही है। पुलिस जांच में ये भी पता चला है कि रिया 4 अलग अलग मोबाइल सिम का इस्तेमाल करती थी। एक सिम घटना के दो दिन पहले ही खरीदा गया था।

फर्जी आईडी से खरीदा गया सिम कार्ड। जांच में पता चला है कि इसी फर्जी आईडी से रिया की सिम के साथ एक और सिम खरीदा गया था। रिया ने नई सिम से 48 घंटे में 18 कॉल किये। रिया ने 6 कॉल फर्जी आईडी पर खरीदे दूसरे सिम पर किये। घटना के वक्त दोनों सिम की लोकेशन एक ही थी और घटना के बाद से दूसरा सिम बंद है। अब तक की जांच में पुलिस इस नतीजे पर पहुंची है कि ये सिम कातिल इस्तेमाल कर रहा था। पुलिस जांच के मुताबिक रिया सेक्स रैकेट में इनवॉल्व थी और चंद्र शेखर और उसकी पत्नी पूनम को इस बारे में पता था। पुलिस को शक है कि रिया चंद्रशेखर के घर का इस्तेमाल अपने क्लाइंट को बुलाने के लिए करती थी।

पुलिस को जांच में ये भी पता चला है कि रिया के अकाउंट में हर दो तीन दिन में 15 से 20 हज़ार रूपये जमा होते थे। पुलिस को ये भी शक है कि रिया के सेक्स रैकेट में इनवॉल्व होने की जानकारी रिया के पति पुष्पेन्द्र को भी थी, लेकिन मर्डर के वक्त पुष्पेन्द्र अपने घर पर ही मौजूद था। पुलिस अब तक मानकर चल रही है कि हत्यारे के निशाने पर पूनम ही थी। उसी पर चाकू से सबसे ज्यादा हमला किया गया। पहले हत्यारे ने रिया का मर्डर किया और जाते वक्त पूनम और चंद्रशेखर को भी मार दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट इस ओर इशारा कर रही है कि हत्यारा प्रोफेशनल किलर है। तीनों की हत्या करने का तरीका एक ही है। पहले गर्दन पर वार, फिर चेस्ट यानि हार्ट के पास और फिर कमर के पीछे वार।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=wxVkqCbb3js[/embed]