ये है 108 साल पुरानी गौशाला, यहां मुस्लिम करते हैं गौ पूजा

मेरठ (31 मार्च): गोहत्या पर उठते सवाल के बीच उत्तर प्रदेश के मेरठ में 108 साल पुरानी गौशाला खासा चर्चा है। यहां के गोपाल गोशाला की देखरेख कोई और नहीं बल्कि मुस्लिम समुदाय के लोग करते हैं। इतना ही नहीं यहां गायों की पूजा भी होती है। 108 साल पुरानी गोपाल गौशाला है, जहां 800 से ज्यादा गाएं हैं। अलि हसन और नूर हसन नाम के दो शख्स इन गायों की देखरेख, उन्हें नहलाने और खिलाने का काम काम करते हैं।


अली हसन तो इस गौशाला में 13 साल की उम्र से समा करते हैं और हर साल वो गोवर्धन की पूजा भी करते हैं। अलि हसन और नूर हसन का कहना है कि इससे मेरा परिवार चलता है। मेरा काम और ये गायें मेरे लिए अल्लाह की तरह है। इन गायों के जरिये मैं कमाता हूं और इन्हें मैं उतना ही प्यार करता हूं, जितना कि अपने परिवार को। अलि और नूर हसन के अलावा इस गौशाला में 60 लोग काम करते हैं।