जामिया मिलिया के 2 छात्रों की प्रेम प्रसंग में हत्या, मौलाना गिरफ्तार

मेरठ (16 अप्रैल): मेरठ में हत्या की सनसनीखेज वारदात सामने आई है। 10 अप्रैल से जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के दो छात्र लापता थे। दोनों छात्रों की लाश डासना-मसूरी नहर की झाड़ियों में बरामद होने से सनसनी फैल गई। जिसौरा गांव निवासी अपहरणकर्ताओं ने दोनों छात्रों की हत्या करने के बाद परिजनों से 1.60 करोड़ रुपये की फिरौती मांगी थी। जिसमें से एक आरोपी नोएडा स्थित एक मस्जिद के मौलाना अय्यूब को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जबकि दूसरा आरोपी टेंपो चालक हैदर फरार है। पुलिस का दावा है कि हत्या के पीछे कारण प्रेम प्रसंग से जुड़ा विवाद है।


पुलिस के मुताबिक आरोपी अय्यूब ने बताया कि जिसौरा गांव की एक युवती से बाबर और हैदर का प्रेम प्रसंग था। हैदर और बाबर में इसको लेकर विवाद भी हुआ था। हैदर नोएडा में डासना से लाल क्वार्टर तक टेंपो चलाता था। हैदर ने बाबर को रास्ते से हटाने का प्लान मौलाना अय्यूब के साथ बनाया था। बाबर मौलाना से अक्सर मिलने जाता था। इसका फायदा उठाकर हैदर ने अय्यूब से फोन कराकर ही बाबर को बुलाया और दोनों ने वारदात को अंजाम दिया।


मुंडाली पुलिस ने बताया कि अय्यूब मौलाना होने के साथ तंत्र मंत्र का भी काम करता है। अय्यूब को जानकारी थी कि बाबर गांव की एक युवती से प्रेम करता है। इसको लेकर अय्यूब और बाबर की अक्सर फोन पर बातचीत भी होती थी। अय्यूब ने बाबर से कहा था कि वह उसको एक ताबीज देगा, जिससे वह युवती उससे ज्यादा प्रभावित हो जाएगी। इसका लालच देकर अय्यूब ने बाबर को नोएडा बुलाया था।

सद्दाम तो दोस्ती में मारा गया।