बातचीत के जरिए चीन से विवाद को सुलझाने की कोशिशें जारी- विदेश मंत्रालय

नई दिल्ली (20 जुलाई): एक तरफ जहां भारत ने चीन के साथ तनातनी के बीच डोकलाम पर अपनी स्थिति साफ कर दी है। वहीं भारतीय विदेश मंत्रालय का कहना है कि दोनों देशों के बीच जारी विवाद को बातचीत के जरिए सुलझाने की कोशिशें भी जारी है। विदेश मंत्रालय के गोपाल वागले ने कहा कि भारत और चीन के बीच विवाद सुलझाने के लिए सभी राजनियक रास्ते खुले हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि चीन में 26-27 जुलाई को होने वाले ब्रिक्स बैठक में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल हिस्सा लेने बीजिंग जाएंगे।

इससे पहले सुषमा स्वराज ने आज राज्यसभा में कहा कि डोकलाम से भारत अपनी सेना तभी पीछे हटाएगी जब चीन अपनी सेना को हटाएगी। सुषमा ने साफ शब्दों में कहा कि पहले चीन को अपनी सेना को पीछे हटाना होगा, उसके बाद ही भारत कोई कदम उठाएगा।

गौरतलब है कि भारतीय सेना ने चीन की सेना को इलाके में सड़क बनाने से रोक दिया, जिसके बाद करीब एक महीने से दोनों देशों की सेनाओं के बीच टकराव की स्थिति देखने को मिली है।