विदेश मंत्रालय का बयान, कहा- हमारे पास हैं पाक सेना के बर्बरता के सबूत

नई दिल्ली (3 मई): भले ही पाकिस्तान 2 भारतीय जवानों के साथ बर्बरता के आरोपों से इनकार कर रहा हो, लेकिन भारत ने साफ किया है कि हमारे पास पाक सेना के बर्बरता के सबूत पर्याप्त सबूत हैं। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने कहा कि शहीद भारतीय जवानों के खून के निशान नियंत्रण रेखा तक गए हैं और रोजा नाला के पास खून के निशान से साफ जाहिर है कि हत्या करने वाले पाकिस्तान के कब्जे वाले इलाके में लौटे हैं।


साथ ही बागले ने कहा कि इस सिलसिले में विदेश सचिव एस. जयशंकर ने पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित को तलब कर कहा कि यह हरकत सभ्यता के किसी भी मानदंड के अनुरुप नहीं है और यह घोर उकसावे की कार्रवाई है। भारत ने मांग की है कि पाकिस्तान इस घटना के लिए जिम्मेदार सेना के अधिकारियों एवं कमांडरों के विरुद्ध कार्रवाई करे। उन्होंने बताया कि विदेश सचिव ने पाकिस्तानी उच्चायुक्त को साफतौर पर बताया कि इस घटना में पाकिस्तानी फौज के लोग शामिल थे और भारत के पास इस बात के पर्याप्त सबूत हैं। हालांकि बासित ने पाकिस्तानी सेना की भूमिका से साफतौर से इंकार किया। उन्होंने कहा कि वह भारत सरकार की भावनाओं को इस्लामाबाद में अपनी सरकार तक पहुंचा देंगे।