अब बेफिक्र होकर कार्ड से खरीदें पेट्रोल-डीजल, MDR पर सहमति के आसार

नई दिल्ली (12 जनवरी): मर्चेंट डिस्काउंट रेट यानी MDR को लेकर पेट्रोलयम कंपनी और बैंकों के बीच सुलह के आसार बनते नजर आ रहे हैं। सूत्रों से मिल रही जानकारी के मुताबिक MDR को लेकर बैंक और सरकारी तेल कंपनियों के बीच चार्ज को लेकर 16 जनवरी तक फॉर्मूला तैयार हो जाएगा। इस सिलसिले में आज पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रदान ने बैंकिंग सचिव अंजुली चिव दुग्गल से मुलाकात की। साथ ही उन्होंने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बैंकों के सीएमडी से भी चर्चा की।

सरकार के इस कदम के बाद पेट्रोल पंप मालिकों को MDR चार्ज नहीं देना पड़ेगा। इससे पहले केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा था कि पेट्रोल पंप पर कार्ड से भुगतान के दौरान कोई मर्चेंट डिस्काउंट रेट यानी MDR चार्ज नहीं लिया जाएगा।

दरअसल बैंकों ने पेट्रोलियम डीलर्स को सूचित किया था कि वे क्रेडिट कार्ड से होने वाले लेनदेन पर 1 फीसदी और डेबिट कार्ड से होने वाले लेनदेन पर 0.25 फीसदी से 1 फीसदी के बीच शुल्‍क वसूलेंगे। पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने सरकार का रुख साफ करते हुए कहा था कि 13 जनवरी के बाद भी पेट्रोल पंप कार्ड से भुगतान स्वीकार करेंगे। तेल कंपनियां और बैंक इस बारे में चर्चा कर रहे हैं कि MDR चार्ज को कौन वहन करेगा।

मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) पर बड़ी बातें...

- 16 जनवरी तक पेट्रोलियम कंपनी और बैंकों के बीच MDR चार्ज को तैयार हो जायेगा फ़ॉर्मूला

- 16 जनवरी को बैंक और सरकारी तेल कंपनियां के फार्मूले का होगा ऐलान

- MDR के मुद्दे पर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान बैंकिंग सचिव अंजुली चिब दुग्गल से की मुलाक़ात

- बैंकों के CMD के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये की चर्चा

- पेट्रोल पंप को नहीं देना होगा MDR चार्ज