MCD चुनाव में जदयू, राजद और कांग्रेस होंगी आमने-सामने

नई दिल्ली ( 3 अप्रैल ): बिहार में महागठबंधन की सरकार में शामिल जदयू, कांग्रेस और राजद दिल्‍ली एमसीडी चुनाव में अलग-अलग उम्मीदवार उतार रही हैं।


लालू प्रसाद यादव की पार्टी राष्ट्रीय जनता दल ने भी दिल्‍ली में एमसीडी का चुनाव बिना किसी गठबंधन के अकेले लड़ने का फैसला किया है। यह फैसला इस लिहाज से महत्‍वपूर्ण है कि जदयू पहले से ही दिल्‍ली में एमसीडी चुनाव लड़ने का एलान कर चुकी है।


ऐसे में बिहार में महागठबंधन के तीनों प्रमुख दल अब दिल्ली निगम चुनाव में आमने-सामने होंगे। कांग्रेस तो दिल्ली की प्रमुख पार्टी है। वह पहले से निगम चुनाव की तैयारियों में जुटी है। महागठबंधन के एक प्रमुख दल जदयू ने पहले ही घोषणा कर दी थी कि वह अपने उम्मीदवार उतारेगी। ऐसे कांग्रेस पार्टी को झटका लगा है, क्योंकि कांग्रेस, राजद और जदयू तीनों पार्टियां महागठबंधन का हिस्सा हैं।


जेडीयू अध्यक्ष नीतीश कुमार 10 अप्रैल के पहले चुनाव प्रचार करने भी दिल्ली आएंगे। पटना में मीडिया से बात करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि 10 अप्रैल के पहले वो किसी दिन चुनाव प्रचार करने दिल्ली जाएंगे। हालांकि राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन की वकालत करते हुए नीतीश कुमार ने कहा कि यदि ऐसा गठबंधन होता है तो इसका परिणाम भी काफी बेहतर होगा। इसके लिए कांग्रेस को पहल करनी चाहिए।


नीतीश कुमार ने कहा कि अगर बिहार के तर्ज पर यूपी में गठबंधन बना होता तो आज ये हालात नहीं होते। लेकिन नीतीश कुमार ने यदि आज भी राष्ट्रीय स्तर पर महागठबंधन बनता है तो महासफलता मिलेगी। बस कांग्रेस को आगे आना होगा।