कोलकाता: मेयर शोभन चटर्जी का पारिवारिक संकट और पॉलिटिकल ड्रामा

                                                                                                          Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (22 नवंबर): पश्चिम बंगाल की सीएम और टीएसी चीफ ममता बनर्जी से विद्रोह के बाद मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद कोलकाता के मेयर और टीएमसी नेता शोभन चटर्जी ने बुधवार को घर में काफी देर तक काम किया। जी हां, आपको बता दें कि शोभन इस समय राजनीतिक और पारिवारिक लड़ाई एक साथ लड़ रहे हैं। शोभन ने एक बंगाली न्यूज चैनल पर अपनी पत्नी रत्ना पर 'वैवाहिक बेवफाई' का आरोप लगाते हुए कहा कि रत्ना ने उनकी 'दोस्त' वैशाखी बनर्जी और उनकी बेटी को मारने के लिए 'सुपारी किलर्स' को हायर किया था।

शोभन का मेयर पद से इस्तीफा न देने का फैसला उनके स्टेट कैबिनेट से इस्तीफा देने के शोभन के फैसले से एकदम उल्टा है। अब टीएमसी उन्हें पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाकर निगम में अविश्वास प्रस्ताव ला सकती है। शोभन के करीबियों की मानें तो शोभन भी यही चाहते हैं कि उनको लेकर पार्टी अनुशासनात्मक कदम उठाए, जिसके बाद वह किसी और पार्टी में अपना भविष्य तलाश सकें। वहीं बीजेपी के नेताओं का कहना है कि शोभन उनके संपर्क में हैं। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो ममता से उनके पुराने संबंधों को ध्यान में रखकर कह रहे हैं कि आखिरी समय में शोभन की वापसी हो सकती है।

मीडिया रिपोर्टस के मुताबिक मंगलवार को मेयर पद छोड़ने के बाद ममता के निर्देश के बाद शोभन ने कहा कि वह मेयर पद से इस्तीफा नहीं देंगे। पारिवारिक विवाद पर शोभन ने कहा, 'मैं राजनीति में व्यस्त था, तभी मुझे चीकू के बारे में पता चला। मैंने अपनी पत्नी से पूछा तो उसने बताया कि चीकू का नाम अभिजीत गांगुली है। उसने मेरे सामने ही कहा कि अभिजीत से उसका अफेयर है और अगर मैं चाहूं तो वह तलाक दे सकती है।