माया के सामने घुटने पर बीजेपी, अपशब्द कहने वाले को सभी पदों से हटाया

नई दिल्ली (20 जुलाई): मायावती के खिलाफ अपशब्द का प्रयोग करने वाले यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष दया शंकर सिंह को पार्टी के सभी पदों से हटा दिया गया है। इस बात की जानकारी देते हुए बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्या ने कहा कि इस तरह के बयान देने वाले को माफ नहीं किया जाएगा।

मायावती ने राज्यसभा में उठाया मुद्दा:

इससे पहले यूपी बीजेपी के उपाध्यक्ष दयाशंकर सिंह ने बीएसपी अध्यक्ष मायावती के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने का मुद्दा राज्यसभा में उठा। मायावती ने बीजेपी नेता नेता दयाशंकर सिंह के खिलाफ SC-ST ऐक्ट के तहत कार्रवाई की मांग करने के साथ-साथ उसे पार्टी से निकालने की बात कही। मायावती ने कहा कि BJP के नेता ने उनके खिलाफ नहीं बल्कि अपनी बहन-बेटी के खिलाफ अपमानजनक बयान दिया है, क्योंकि पूरा देश उन्हें बहन मानता है।

अरुण जेटली ने घटना को लेकर माफी मांगी:

बीजेपी की ओर से राज्यसभा में अरुण जेटली ने इस घटना को लेकर माफी मांगी। राज्यसभा में खुद वित्त मंत्री अरुण जेटली को इस मामले पर सफाई देनी पड़ी। जेटली ने राज्यसभा में इस बयान को निंदनीय बताते हुए कहा कि है किसी भी महिला के लिए इस तरह की शब्दावली के प्रयोग पर मुझे खेद है।

क्या था विवाद:

आपको बता दें कि यूपी में बीजेपी के वाइस प्रेसिडेंट दयाशंकर ने कहा था, ''मायावती टिकट बेचती है, वह एक बड़ी नेता हैं और तीन बार प्रदेश की मुख्‍यमंत्री रह चुकी हैं। वह एक करोड़ में टिकट देती हैं, लेकिन अगर कोई व्यक्त‍ि दो करोड़ उनके पास आ जाए तो वह उसे टिकट दे देंगी। वहीं अगर उसी टिकट के लिए कोई तीन करोड़ लेकर आता है तो वह उन पिछले दोनों उम्मीदवारों को टिकट काटकर उसे दे देंगी। मायावती आज #[email protected]^& से भी बदतर चरित्र की हो गई हैं।