मायावती ने BHIM पर उठाया सवाल, कहा-दलित समाज को बरगलाने की हो रही है कोशिश

लखनऊ (2 जनवरी): उत्तर प्रदेश में फरवरी और मार्च में विधानसभा चुनाव होने के आसार है। लिहाजा सूबे में चुनाव प्रचार के साथ-साथ आरोप-प्रत्यारोप की राजनीति जोरों पर है। इसकी कड़ी में बीएसपी प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री मोदी की लखनऊ में आयोजित रैली को पूरी तरह से फ्लॉप करार दिया है।

साथ ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने BHIM एप पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि मोबाइल एप भारत इण्टरफेस फार मनी के अंग्रेजी नाम से लॉन्च किया गया। उसको भीम के उपनाम से प्रचारित कर दलित समाज को वरगलाने का प्रयास किया जा रहा है। अगर प्रधानमंत्री के नीयत साफ होती तो इसका नाम ही फिर बाबा साहेब डा भीमराव अम्बेडकर के नाम पर सीधा कर दिया गया होता।

मायावती ने कहा कि नववर्ष में उनका पहला राजनीतिक सम्बोधन भी देश के नाम सम्बोधन की तरह ही निराश करने वाला था। जले पर नमक छिड़कते हुये पेट्रोल, डीजल और रसोईगैस जैसे आवश्यक वस्तुओं की कीमतें बढ़ाकर नववर्ष में जनता की कमर तोड़ने वाला कड़वा तोहफा दिया है।