सपा, भाजपा और कांग्रेस में समझौता: मायावती

इलाहाबाद (3 सितंबर): बसपा सुप्रीमो मायावती ने सपा, भाजपा और कांग्रेस पर गुप्त समझौते का आरोप लगाते हुए कहा कि ये पार्टियां यह छवि गढ़ने की कोशिश कर रही हैं कि बसपा की हालत काफी कमजोर है।

मायावती ने कहा कि अपने परिवार के सदस्यों को जगह नहीं दिए जाने से नाराज कुछ असंतुष्ट तत्वों के बसपा छोड़कर जाने के कुछ उदाहरण रहे हैं। उन्होंने यह आरोप लगाने में भी देरी नहीं की है कि चुनाव लड़ने के लिए टिकट बेचे जा रहे हैं। इन आरोपों को दुर्भाग्यपूर्ण करार देते हुए बसपा प्रमुख ने कहा कि एक तरफ हमारे विरोधी हमें चूकी हुई ताकत करार देकर खारिज करने की कोशिश करते हैं, जबकि दूसरी तरफ आरोप लगाते हैं कि लोग उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए बसपा का टिकट पाने की खातिर बड़ी रकम खर्च कर रहे हैं।

सपा, भाजपा और कांग्रेस में बसपा को बदनाम करने का गुप्त समझौता: मायावती हाल के दिनों में अपने कई नेताओं के पार्टी छोड़कर चले जाने के बीच बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज दावा किया कि अगले साल होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव की दौड़ में उनकी पार्टी दूसरों से कहीं आगे है। उन्होंने कहा कि आम लोग इस विरोधाभास को देख सकते हैं। सपा, भाजपा और कांग्रेस ने यह छवि गढ़ने के लिए गुप्त समझौता कर रखा है कि हम काफी मुश्किल में हैं। बसपा के वरिष्ठ नेता रहे स्वामी प्रसाद मौर्य, आर के चौधरी और ब्रजेश पाठक के हाल में पार्टी छोड़कर जाने के बाद मायावती ने यह बयान दिया है।