मथुरा हिंसा की जड़ क्या? जय गुरुदेव की 12,000 करोड़ की संपत्ति!

नई दिल्ली (2 जून) :  मथुरा में गुरुवार को हिंसक टकराव, जो दो पुलिस अफसरों समेत 24 लोगों की मौत की वजह बना, उसके पीछे कथित आध्यात्मिक गुरु जय गुरुदेव की कथित तौर पर करीब 12,000 करोड़ रुपये की विरासत का विवाद बताया जा रहा है। इसी विरासत पर कब्जे को लेकर दिवंगत जय गुरुदेव के समर्थकों के गुटों में आपस में ठनी हुई है। जय गुरुदेव का असली नाम तुलसीदास महाराज था। उनका 2012 में निधन हुआ।

सीएनएन-न्यूज़ 18 की रिपोर्ट के मुताबिक जय गुरुदेव के कई भव्य आश्रम मथुरा-दिल्ली हाईवे और इटावा में स्थित हैं। जय गुरुदेव के  'आर्थिक साम्राज्य' में 4000 करोड़ रुपये की ज़मीन, मर्सिडीज़ और प्लाइमाउथ जैसी आलीशान कारों का 150 करोड़ रुपए का बेड़ा शामिल है। इसके अलावा बैंक खातों में भी 100 करोड़ रुपए जमा है। बताया जाता है कि जय गुरुदेव के आश्रमों हर दिन करीब 10 से 12 लाख का चढ़ावा आता है।  

जय गुरुदेव के अनुयायियों से ही निकले गुट 'स्वाधीन भारत आंदोलन' के समर्थकों का गुरुवार को पुलिस से टकराव हुआ। पुलिस इन समर्थकों के जवाहर बाग पर कब्ज़े को हटाने के लिए कार्रवाई करने पहुंची थी। बता दें कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया था।  

यूपी पुलिस के आईजी (लॉ एंड ऑर्डर) एच आर शर्मा के मुताबिक जवाहर बाग में करीब 3000 अतिक्रमणकारियों ने पहले पुलिस पर पथराव किया, फिर गोलियां चलाईं। इस दौरान ग्रेनेड्स और ऑटोमैटिक हथियारों का भी इस्तेमाल किया गया। पुलिस ने मौके से बड़ी मात्रा में हथियार भी ज़ब्त किए।