सचिन ने 15 साल की उम्र में पहली बार बनाया था CV, इन चीजों का किया था जिक्र

नई दिल्ली(26 जून): मास्टर ब्लास्ट सचिन तेंदुलकर क्रिकेट को अलविदा कह चुके हैं, लेकिन आज भी उनसे जुड़ी चीजें चर्चा का विषय बनती हैं। आमतौर पर एक युवा कॉलेज से निकलने के बाद सीवी बनाता जिससे कि उससे एक बढ़ियां नौकरी मिल सके। लेकिन इस महान बल्लेबाज ने महज 15 साल की उम्र में ही सीवी बनाई थी। 

28 साल पहले बनाया गया ये सीवी पोर्टल द रिंग साइड व्यू ने जारी किया है। सात पेज के इस सीवी में उन्होंने विनोद कांबली के साथ की 664 रन की पार्टनरशिप के अलावा बताया कि उन्होंने 11 साल की उम्र में करियर की शुरूआत की थी।

वहीं उन्होंने अपनी पहली सेंचुरी का भी जिक्र किया है। उन्होंने बताया कि है वह दाहिने हाथ के मिडल आर्डर बल्लेबाज हैं और मीडियम पेसर हैं। उन्होंने अपने स्कूल की पढ़ाई का भी जिक्र करते हुए बताया है कि उन्होंने शारदाश्रम विद्या मंदिर से इंटर स्कूल  टूर्नामेंट खेला है। साथ ही कई क्लब क्रिकेट में भी भाग लिया है। साथ ही उन्होंने बताया कि 1984-85 में उन्होंने गील्ड शिल्ड टूर्नामेंट खेला है।

इसमें उन्होंने अपनी 102 रन की नाबाद सेंचुरी का भी जिक्र किया। उन्होंने अंडर—15 में नेशनल कैंप के लिए चुने जाने का भी जिक्र किया है। उन्होंने बताया कि 1986-87 में उन्हांने 9 सेंचुरी लगाई, जिसमें दो डबल सेंचुरी और 27 विकेट भी लिए थे। इस सत्र में उन्होंने 2336 रन बनाए हैं।

ये भी बताया है सीवी में  -रणजी ट्राफी में मुंबई की टीम में सबसे कम उम्र में सेलेक्ट हुए

 -विजय मचेंट इंटर जोनल में बांबे की अंडर—15 टीम की कप्तानी की।

 -हेराल्ड शील्ड इंटर स्कूल क्रिकेट टूर्नामेंट (अंडर 17 क्रिकेट) में 5 इनिंग्स में 1028 रन (21 नॉट आउट, 125, 207 नॉट आउट इन क्वार्टर फाइनल, 329 नॉट आउट इन सेमीफाइनल, 346 नॉट आउट इन फाइनल) बनाए।

 -विजय हजारे इंटर जोनल में बांबे टीम की कप्तानी की।