'म्यांमार में हिंदुओं को मार कर गड्ढे में फेंक दिया गया'- चश्मदीदों ने सुनाई आपबीती

नई दिल्ली (28 सितंबर): पश्चिमी म्यांमार के हिंदू आबादी वाले गांव में रीका धर ने अपने पति, दो भाइयों और कई पड़ोसियों को नृशंसतापूर्वक मौत के घाट उतारे जाने और बाकी खौफजदा कुछ लोगों को हाथ पीछे बांधकर पहाड़ियों में ले जाते हुए देखा। अपने दो बच्चों के साथ भागकर बांग्लादेश के भीतर हिंदू शिविर में पनाह लिए हुए 25 वर्षीया धर ने कहा, ‘कत्ल करने के बाद, आतंकियों ने बड़े-बड़े तीन गड्ढे खोदे और उन सबको उसमें फेंक दिया। उनके हाथ उस समय भी पीछे की ओर बंधे हुए थे और आंखों पर पट्टी बांध दी गयी थी।’ चश्मदीदों ने बताया कि उत्तरी राखाइन प्रांत के खा मुंग सेक में हिंदुओं के छोटे से गांव में खूनखराबा हुआ जहां म्यांमार प्रशासन ने  कब्रगाहों से 45 शवों को खोदकर निकाला।