UN के आतंकवादियों की सूची में शामिल होगा मसूद अजहर: विदेश मंत्रालय


नई दिल्ली (20 जुलाई): विदेश मंत्रालय ने गुरुवार को कहा कि संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) और अन्य देशों ने मौलाना मसूद अजहर को यूएन की प्रतिबंध कमिटी के दायरे में आने वाले आतंकवादियों की सूची में शामिल करने का अनुरोध किया है। 

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता गोपाल बागले ने बताया कि अमेरिका और अन्य देशों ने मौलाना मसूद अजहर को यूएन की प्रतिबंध कमिटी के दायरे में आने वाले आतंकवादियों की सूची में रखने का अनुरोध किया है, क्योंकि यह भी सैयद सलाहुद्दीन की तरह आतंकवाद का एक स्रोत है। यह ग्लोबल चिंता है। 

गौरतलब है कि मसूद अजहर जैश-ए-मोहम्मद का मुखिया है, जो पीओके में सक्रिय है। पठानकोट अटैक के बाद पाकिस्तान में उसे कथित तौर पर कस्टडी में लिया गया था, लेकिन बाद में उसे आजाद देखा गया। 

भारत के लिए मसूद मोस्ट वॉन्टेड आतंकियों में एक है। पाकिस्तान में आतंकवादी संगठनों की सक्रियता के बारे में अमेरिकी विदेश विभाग की रिपोर्ट पर बागले ने कहा कि रिपोर्ट खुद अपनी कहानी कहती है। इसमें पाकिस्तान को पनाहगाह बताया गया है, यह भी कहा गया है कि कुछ आतंकवादी संगठनों के खिलाफ पाक के कदम कमजोर हैं। 

लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद का नाम लेकर उन्हें उपलब्ध अवसरों के बारे में बताया गया है। हम यही बातें कहते रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय बिरादरी से हमारे जुड़ाव में सीमा पार से फैलाया जा रहा आतंकवाद हमारे फोकस में है। अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के साथ हमारी एकजुटता अब ऐक्शन की ओर बढ़ रही है।