BREAKING: मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करे संयुक्त राष्ट्र- फ्रांस

नई दिल्ली (15 जनवरी): भारत के सबसे बडे़ दुश्मन और पाकिस्तानी आंतकी को फ्रांस ने अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने की मांग की है। फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क ऐहु ने संयुक्त राष्ट्र से ये मांग उस वक्त की है जब चीन यूएन में मसूद अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने के भारत के प्रस्ताव का विरोध कर रहा है।

फ्रांस का कहना है कि इस तरह की पहल के 'पक्ष में काफी मजबूत तर्क' हैं। फ्रांस के विदेश मंत्री ज्यां मार्क ऐहु ने चीन का नाम लिए बगैर कहा, 'आतंकवाद से लड़ने के लिए अंतरराष्ट्रीय समुदाय की प्रतिबद्धता हर जगह एक जैसी होनी चाहिए।'

भारत के चार दिनों के दौरे से रवान होने से पहले विदेश मंत्री ज्यां मार्क ऐहु ने कहा कि अजहर के संगठन जैश ए मोहम्मद को 'आतंकवादी संगठनों की सूची में शामिल किया जा चुका है, इसलिए भारत की आग्रह के मुताबिक इसके प्रमुख को सूची में शामिल करने को लेकर मजबूत तर्क हैं।' उन्होंने कहा कि इसलिए फ्रांस ने न केवल समर्थन दिया बल्कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् में भारत के आग्रह को लेकर आवाज भी उठाई।

भारत ने पिछले साल फरवरी में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की 15 सदस्यीय 1267 मंजूरी समिति में अजहर को अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी घोषित करने का प्रस्ताव रखा था। उसे पठानकोट वायुसेना अड्डे पर हमले का सरगना होने के लिए यह मांग की गई थी। इसके बाद से चीन ने दो बार भारत के प्रस्ताव को 'तकनीकी तौर पर स्थगित' करा दिया और फिर पिछले साल 30 दिसंबर को इस पर रोक लगवा दिया। ऐहु ने कहा कि हमारे संयुक्त प्रयास के बावजूद हमें इसका अफसोस है और समिति के समर्थन होते ही हम आम सहमति तक नहीं पहुंच सके।