रावलपिंडी के अस्पताल में छिपा है भारत का सबसे बड़ा दुश्मन, पाक सेना दे रही पहरा

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (19 फरवरी): भारत का सबसे बड़ा दुश्मन और अंतर्राष्ट्रीय आतंकी मसूद अजहर रावलपिंडी के आर्मी अस्पताल में छिपा बैठा है और पाकिस्तानी सेना उसके पहरेदारी में जुटी है। बताया जा रहा है कि मसूद अजहर ने पाक सेना और खुफिया एजेंसी के कहने पर यहीं से अपने आतंकियों को पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर आत्मघाती हमले का आदेश दिया था। जानकारी के मुताबिक पुलवामा में सीआरपीएम के काफिले पर हुए हमले का आदेश जैश सरगना मसूद अजहर ने करीब आठ दिन पहले ऑडियो टेप जारी किया था। इसमें उसने कहा था कि इस लड़ाई में मौत से ज्यादा अच्छा कुछ नहीं है। कोई इन्हें दहशतगर्द कहेगा, कोई निकम्मा, कोई पागल तो कोई इन्हें अमन के लिए खतरा कहेगा। इस टेप के जरिये ही अजहर ने गाजी राशिद को घाटी में युवाओं का ब्रेन वाश करने और उन्हें आईईडी धमाके के साथ आत्मघाती हमलों के लिए तैयार करने की जिम्मेदारी दी थी।  


बताया जा रहा है कि घाटी में जैश ए मोहम्मद के करीब 60 से ज्यादा आतंकी मौजूद हैं, जो अलग-अलग जिले में फैले हुए हैं। ये आतंकी लगातार अपना ठिकाना बदल रहे हैं। भारत के सख्त रूख के बाद एलओसी के पास पाक सेना अलर्ट पर है और वहां मौजूदा आतंकी ठिकानों को शिफ्ट करना शुरू कर दिया है। खबरों के मुताबिक, इन शिविरों में आतंकियों की कोई हलचल देखने को नहीं मिल रही है। इतना ही नहीं, पाक ने अपने सैनिकों को शीतकालीन बंकरों में तैनात कर दिया है।


खूफिया जानकारी के मुताबिक जैश सरगना मसूद अजहर के आसपास पाकिस्तानी सेना के जवानों का पहरा है। और, वो वहीं से भारत के खिलाफ साजिशें रच रहा है। पिछले काफी वक्त से जिस मसूद अजहर के ठिकाने के बारे में कोई पुख्ता जानकारी नहीं मिल रही थी। लेकिन, अब भारतीय सुरक्षा एजेंसियों को उसके बारे में बेहद सटीक जानकारी हासिल हो गई है। पता चला है कि उसने ISI और  पाकिस्तानी सेना की सरपरस्ती में आर्मी के बेस हॉस्पिटल को अपना नया ठिकाना बना लिया है। इलाज के नाम पर वो बेहद सख्त सुरक्षा में अस्पताल के एक कमरे में कैद हो गया है।