बांग्लादेश क्रिकेट टीम के कप्तान मशरफे मुर्ताजा इस पार्टी से लड़ेंगे चुनाव

                                                                                                             Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (27 नवंबर): हिंदुस्तान और पाकिस्तान की तरह अब बांग्लादेश में भी क्रिकेटर राजनीति में किस्मत आजमा रहे हैं। बांग्लादेशी कप्तान तो हिंदुस्तान और पाकिस्तान से एक कदम आगे निकल गए। कई हिंदुस्तानी क्रिकेटर ने संन्यास के बाद ही राजनीति में कदम रखा। पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को इस पद तक पहुंचने में दशकों लग गए। वही बांग्लादेशी कप्तान मशरफे मुर्ताज एक तरफ मैदान पर खेलते नजर आएंगे और दूसरी तरफ जनता से हाथ जोड़कर वोट भी मांगेगे।

क्रिकेट के मैदान से राजनीति के अखाड़े में कदम रखने वाले बांग्लादेश के वनडे कप्तान मशरफे मुर्तजा ने राजनीति में उतरने के अपने फैसले का बचाव किया है। मर्तुजा ने कहा कि उनका राजनीति में कदम रखना वक्त का तकाजा है। दरअसल मुर्तजा के फैसले से उनके फैन्स काफी नाराज हो गए थेए।

बांग्लादेश में स्टार की हैसियत रखने वाले मुर्तजा के प्रशंसक उनके राजनीति में उतरने के फैसले से खासे खफा थे। मुर्तजा ने अगले महीने 30 दिसंबर को होने वाले चुनाव में अवामी लीग के टिकट पर लड़ने का फैसला किया है। मुर्तजा ने अपने फैसले का बचाव करते हुए कहा कि हर जागरूक और ईमानदार बांग्लादेशी को राजनीति में उतरना चाहिए
कई अलग अलग कारणों से लोग हिम्मत नहीं कर पाते हैं, लेकिन मुझे लगा कि दिमाग से ये पट्टी हटाने की जरुरत है और मैंने खुद सियासत में उतरने का फैसला किया  

भले ही मुर्तजा ने सियासत में उतने का फैसला ले लिया है। लेकिन वनडे टीम की कप्तानी करने वाले मुर्तजा क्रिकेट को भी समय दे रहेंगे। बांग्लादेश में चुनावी माहौल के बीच मशरफे मुर्तजा 9 दिसंबर से वेस्टइंडीज के खिलाफ शुरू हो रही तीन मैचों की वनडे सीरीज में बांग्लादेश की कप्तानी भी करेंगे। गौरतलब है कि मुर्तजा अपने गृह जिले की सीट नराइल से उम्मीदवार होंगे।