सीएम योगी ने दिया आश्वासन, शहीद का परिवार अंतिम संस्कार के लिए हुआ राजी

नई दिल्ली ( 3 मई ): भारत-पाकिस्तान की नियंत्रण रेखा के पास मेंढर सेक्टर में बीएसएफ के शहीद जवान प्रेम सागर का शव मंगलवार को उनके घर पहुंचा। जब शहीद प्रेम सागर का शव देवरिया पहुंचा तो परिवार वालों ने अंतिम संस्कार करने से इंकार कर दिया। शहीद का परिवार सीएम योगी को देवरिया बुलाने पर अड़ा हुआ था और परिवार का कहना था कि योगी के आने तक अंतिम संस्कार नहीं होगा।


हालांकि मंगलवार रात कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाही शहीद जवान के घर पहुंचे और परिवार वालों के साथ बातचीत की। शाही ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से शहीद के बेटे की बात भी करवाई जिसके बाद परिवार वाले अंतिम संस्कार के लिए राजी हुए।


राज्य के कृषि मंत्री सूर्यप्रताप शाह ने फोन के जरिए शहीद के बेटे की बाच मुख्यमंत्री से करवाई। बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री ने 13 दिन के अंदर गांव आने की बात कही। इसके अलावा गांव में पिता के नाम पर शहीद स्मारक बनाने की बेटे की मांग पर भी विचार करने का आश्वासन दिया।


शहीद के बड़े बेटे ईश्वर चंद ने यूपी के मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से बातचीत की। बातचीत के बाद उन्होंने कहा, "मैंने योगी जी से बात की और मैं संतुष्ट हूं। उन्होंने आने के लिए कहा है और मेरी नौकरी के लिए भी बात की। चूंकि वे एक योगी हैं, इसलिए मुझे उन पर भरोसा है।"