पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद नरेन्द्र सिंह का अंतिम संस्कार, बेटियों ने दी मुखाग्नि

हरिद्वार (17 अगस्त): जम्मू-कश्मीर के उरी सेक्टर में आतंकियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए देवभूमि के हवलदार नरेन्द्र सिंह बिष्ट का आज हरिद्वार के खड़खड़ी श्मसान घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। शहीद नरेंद्र सिंह की दोनों बेटियों और छोटे भाई ने मिलकर उन्हें मुखाग्नि दी। आज सुबह देहरादून के सेलाकुई स्थित उनके निवास से उनकी अंतिम यात्रा निकाली गई।  देश की रक्षा में अपने प्राणों की आहुति देने वाले नरेन्द्र सिंह बिष्ट की बहादुर बेटियों ने कहा कि मेरे पापा ने देश लिए अपनी जान कुर्बान की, सरकार को पाकिस्तान से कहना चाहिए कि वो सामने आकर युद्ध करे।

शहीद नरेन्द्र सिंह को श्रद्धांजलि देने के लिए पूरा शहर उमड़ पड़ा। लोगों ने उनकी अंतिम यात्रा में शहीद नरेंद्र सिंह अमर रहे के नारे लगाए साथ ही पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाए। शहीद की अंतिम यात्रा सेना के बैंड की मातमी धुन पर घर से निकली। हवलदार नरेंद्र सिंह बिष्ट कल सुबह कश्मीर उरी सेक्टर शहीद हुए थे। 


आपको बता दें चौथी गढ़वाल राइफल्स के नरेन्द्र सिंह उरी सेक्टर में सीमा पर तैनात थे। रक्षा बंधन के दिन पाकिस्तान की ओर से की गई फायरिंग में उनके सिर में गोली लग गई थी जिसमें वे बुरी तरह जख्मी हो गए थे तब से जम्मू के मिलिट्री अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था जहां बुधवार सुबह को उन्होंने अंतिम सांस ली थी।