सुषमा ने निभाया वादा, समुद्री डाकुओं के चंगुल से रिहा हुआ यह भारतीय

नई दिल्ली (11 मई): नाइजीरिया में समुद्री डाकुओं के चुंगल से भारत के संतोष भारद्वाज को रिहा करवा लिया गया है। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने ट्वीट कर संतोष के रिहा होने की जानकारी दी।

सुषमा ने कहा, 'मुझे सूचित करते हुए अत्यन्त खुशी हो रही है कि संतोष भारद्वाज नाइजीरिया में समुद्री डाकुओं के चुंगल से छूट गए हैं।' इसके उपरांत दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, 'सुषमा जी बेहतरीन काम कर रही हैं।' जबकि एक्टर अनुपम खेर ने कहा- जय हो।

आपको बता दें कि वाराणसी में रहने वाले संतोषकी पत्नी ने रिहाई के लिए सुषमा से गुहार लगाई थी। संतोष की रिहाई के बाद उनकी पत्नी कंचन ने सुषमा स्वराज से कहा, 'मुझे आपके मंत्रालय पर विश्वास था। इसलिए 45 दिन अपने पति का इंतजार कर सकी, मैं जीवन भर आपकी आभारी रहूंगी।' 3 अप्रैल को सुषमा ने ट्वीट कर संतोष की पत्नी से कहा था, बहन आप खाना नहीं छोड़ें। मैं आपके पति को छुड़वाने में कोई कसर नहीं छोडूंगी।

संतोष सिंगापुर की शिपिंग कंपनी ट्रांसओशन प्राइवेट लिमिटेड में थर्ड इंजीनियर थे। उनकी पोस्टिंग नाइजीरिया में थी। संतोष ने 13 जनवरी को ट्रांसओशन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी ज्वॉइन की थी। 26 मार्च को संतोष की पत्नी कंचन के पास एक फोन आया। उन्हें बताया गया कि लुटेरों ने संतोष के शिप को नाइजीरिया के लागोस में किडनैप कर लिया है। लुटेरे कैद हुए पांच लोगों के लिए कंपनी से फिरौती मांग रहे थे।