महाराष्ट्र: आरक्षण को लेकर नादेड़ में जुटे 20 लाख मराठी

नादेड़ (18 सितंबर):  नांदेड़ में आज मराठा समाज का क्रांति मोर्चा निकला। इस मोर्चे में 20 लाख लोग शामिल होने का अनुमान है। नांदेड़ पुलिस ने कहां है कि 13 लाख 50 हज़ार लोग इस मोर्चे में शामिल थे।

अट्रोसिटी कानून में बदलाव, आरक्षण और कोपार्डी बलात्कार व हत्याकांड में शामिल आरोपियों फांसी दी जाए। मराठा समाज ने इस रैली में यह प्रमुख रूप से मांग की है। पहली बार ऐसा हुआ कि मराठा आंदोलन की खबर कवर करने के लिए बड़ी संख्या में विदेशी चैनल आए। आंदोलन की चर्चा सोशल मीडिया पर खूब है।

इससे पहले मराठा समाज के जो भी क्रांति आंदोलन हुए वे बहुत ही शांतिपूर्ण और बेहद ही अनुशासित रहा। हिंगोली से पहले औरंगाबाद, उस्मानाबाद, बीड, जलगांव और परभणी में ऐतिहासिक रैली निकाली। आंदोलन की खास बात यह है कि आंदोलन में शामिल होने के लिए किसी तरह का प्रचार-प्रसार नहीं किया है और नहीं लोगों को बुलाने के लिए किसी तरह के वाहन का प्रबंध किया जाता। लोग खुद ब खुद शामिल होने के लिए आ रहे हैं।

मराठा क्रांति मूक मोर्चा का पड़ाव रविवार 18 सितंबर को नांदेड और सांगली है। लातूर और अकोला में 19 सितंबर, 21 सितंबर को रायगढ और सोलापूर, 24 सितंबर को नाशिक, 23 सितंबर को अहमदनगर, 25 सितंबर को पुणे, 26 सितंबर को बुलढाना और 28 सितंबर को धुले में होगा। मराठा क्रांति आंदोलन के बारे में एडो जितेंद्र पाटील कहते हैं 21 सितंबर को रायगढ में मूक आंदोलन होगा जिसकी व्यापक तैयारियां चल रही है।