#ManthanWithYogi: राज्य में ICU पर थी सरकारी स्वस्थ्य व्यवस्था- सिद्धार्थनाथ सिंह

लखनऊ(7 जुलाई): उत्तर प्रदेश में सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था की बदहाली किसी से छिपी हुई नहीं है। कहीं अस्पताल है तो डॉक्टर नहीं और दोनों है तो दवाई नहीं। यानी पूरी की पूरी सरकारी स्वास्थ्य व्यवस्था खुद ICU में है। सूबे में सत्ता बदलने के बाद लोगों की उम्मीद जागी है और लोगों को लगतार है उन्होंने और उनके परिजनों को कम खर्च में वक्त पर समुचित और वक्त रहते इलाज मिल जाएगा। राज्य की बीजेपी सरकार पर अपने चुनावी घोषणा पत्र के मुताबिक सरकारी अस्पतालों की सेहत को सुधाने में जुटे हैं।


सूबे में योगी आदित्यनाथ सरकार के 100 दिन पूरे होने पर आयोजित न्यूज 24 खास कार्यक्रम 'मंथन' में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह पहुंचे और खुलकर अपनी सरकार के कामकाज का बखान किया। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों में राज्य की स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरह से चरमराई हुई थी और अब उनकी सरकार इसके पटरी पर लाने की जुगत में जुटी हुई है।

सिद्धार्थनाथ सिंह की बड़ी बातें...

- राज्य में ICU पर थी सरकारी स्वस्थ्य व्यवस्था

- जहां पर भी सरकारी अस्पताल बने हुए हैं, उसे सुधारने के लिए काम किया जा रहा है

- जो है उसको और अच्छा करना है

- 100 दिन के अंदर आप एक दिशा देते हैं और हमने एक बेहतर दिशा तय की है

- सैफई में अभी भी 56 डॉक्टरों की कमी है

- आपने अस्पताल तो बना दिए लेकिन डॉक्टर नहीं है

- बजट में किसानों के कर्ज माफ करने की बात को पूरा करेंगे और बैंकों को नोटिस जारी नहीं करने के लिए कहा गया है

- पिछली सरकार इतने गड्ढे देगी यह‍ बाद में पता चला, इसीलिए हमें 325 सीटें मिली

- बनारस में हम हाईवे बनवा रहे हैं, सड़कों पर लटकी तारें कुछ समय बाद नहीं दिखेगी

- हम यूपी में बराबर बिजली दे रहे हैं, लेकिन अभी भी काफी काम करना है

- कांग्रेस को विचार करना चाहिए कि वह अपना दल से भी नीचे कैसे आ गई

- बंगाल में ममता तुष्‍टिकरण कर रही है, वहां पर हिंदुओं को लगने लगा है कि वह सुरक्षित नहीं हैं


वीडियो: