मोदी के आरोपों पर मनमोहन सिंह ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मोदी हार देख बौखला गए हैं, माफी मांगे

नई दिल्ली ( 11 दिसंबर ): गुजरात विधानसभा चुनाव में पाकिस्तान का नाम आने के बाद से सियासत गरम हो गई है। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि विपक्षी दल के नेताओं ने मणिशंकर अय्यर के उन्हें 'नीच' कहने से एक दिन पहले पाकिस्तान के मौजूदा एवं पूर्व अधिकारियों के साथ एक गुप्त बैठक की थी।

अब पीएम मोदी के के आरोपों के बाद पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने चुप्पी तोड़ी है। उन्होंने पीएम मोदी के आरोपों से खुद को आहत बताया है और पीएम मोदी पर पलटवार किया है। उन्होंने कहा कि गुजरात में हार को देखकर मोदी बौखला गए हैं और इस तरह के आरोप लगा रहे हैं। पूर्व पीएम ने बैठक के दौरान गुजरात पर चर्चा से साफ तौर पर इनकार किया है। 

मनमोहन सिंह ने एक बयान जारी कर कहा कि कांग्रेस पार्टी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राष्ट्रीयता सीखने की जरूरत नहीं है। उन्होंने पीएम मोदी की पाकिस्तान यात्रा का भी जिक्र किया और कहा, 'मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को याद दिला दूं कि ऊधमपुर और गुरदासपुर में आतंकवादी हमले के बाद बिना बुलाए पाकिस्तान गए। उन्हें देश को यह भी बताना चाहिए कि आतंकवादी हमले की जांच के लिए पाकिस्तान की कुख्यात एजेंसी आईएसआई को पठानकोट एयरबेस में क्यों बुलाया गया?' मनमोहन सिंह ने कहा कि 5 दशक के सार्वजनिक जीवन का उनका ट्रैक रिकॉर्ड सबको पता है और मोदी सहित कोई भी उनपर सवाल नहीं उठा सकता। 

पीएम मोदी के आरोपों से खुद को दुखी बताया है। पूर्व पीएम ने कहा, 'मणिशंकर अय्यर के द्वारा आयोजित डिनर में मैंने किसी के साथ गुजरात चुनाव पर चर्चा नहीं की। यह मुद्दा किसी दूसरे के द्वारा भी नहीं उठाया गया। चर्चा भारत-पाकिस्तान रिश्तों तक सीमित थी।' उन्होंने पीएम मोदी से माफी की मांग करते हुए उम्मीद जताई कि वह गंभीरता दिखाएंगे। मनमोहन सिंह ने बैठक में शामिल लोगों के नाम भी बताए हैं। इस सूची में कुल 19 लोगों के नाम हैं। 

Statement from Former Prime Minister Dr. Manmohan Singh on the falsehoods being spread to score political points, in a lost cause by PM Modi. pic.twitter.com/X20X3oeeYw

— Congress (@INCIndia) December 11, 2017

डिनर में मौजूद थे ये लोग  मणिशंकर अय्यर और उनकी पत्नी, खुर्सीद कसूरी, हामिद अंसारी, डॉ. मनमोहन सिंह, के. नटवर सिंह, केएस बाजपेयी, अजय शुक्ला, शरद सभरवाल, जनरल दीपक कपूर, टीसीए राघवन, सती लांबाह, पाकिस्तानी उच्चायुक्त, एमके भद्रकुमार, सीआर घरेखान, प्रेम शंकर झा, सलमान हैदर, राहुल खुशवंत सिंह।