मनमोहन ने ऐसे 'मोहा' मोदी का मन

नई दिल्ली (6 अप्रैल): तमाम अड़चनों के बाद आखिरकार GST बिल राज्यसभा में  पास हो गया। आजादी के बाद का सबसे बड़ा 'आर्थिक सुधार' कहा जाने वाला GST पिछले महीने लोकसभा से पास हो चुका है। राज्यसभा से इस बिल को हरी झंडी मिलने के बाद 1 जुलाई से इसे देशभर में लागू करने की सरकार की योजना को बड़ी कामयाबी माना जा रहा है।केंद्र सरकार के साथ-साथ पूर्व प्रधानमंत्री और अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह ने इस कदम की सराहना की है। राज्यसभा से GST को आसानी से पास कराने में मदद करने के बाद पूर्व पीएम मनमोहन सिंह ने नए टैक्स सिस्टम को 'ऐतिहासिक' करार दिया है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने इसे भारतीय लोकतंत्र के लिए अच्छा बताया।


राज्यसभा में GST की राह आसान करने का श्रेय पूर्व पीएम मनमोहन सिंह को भी दिया जा रहा है। GST बिलों पर कांग्रेस की ओर से आ रहे संशोधनों को साधते हुए मनमोहन ने अपनी पार्टी से बदलाव न करने की सलाह देते हुए 'सहमति और संघीय गठजोड़ बनाए रखने' को कहा। उच्च सदन में सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस की ओर से समर्थन न मिलने के कारण अन्य विपक्षी दलों टीएमसी और लेफ्ट के संशोधन पास नहीं हो पाए और सभी GST के बिल बिना संशोधन पास हुए। मनमोहन सिंह ने कहा कि यह गेम चेंजर साबित हो सकता है, लेकिन रास्ते में मुश्किलें भी आएंगी।