IPL में शतक जड़ने वाला पहला भारतीय क्रिकेटर, सिडनी में जीता चुका है मैच

नई दिल्ली(31 मार्च): टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज युवराज सिंह टखने में चोट के कारण वर्ल्ड टी-20 से बाहर हो चुके हैं। युवराज की जगह युवा बल्लेबाज मनीष पांडे को टीम में चुना गया है। हालांकि मनीष को वेस्टइंडीज के खिलाफ होने वाले सेमीफाइनल मुकाबले में अंतिम ग्यारह में जगह मिलेगी या नहीं ये तो मैच के पहले ही मालूम पड़ेगा। लेकिन अपने अंतिम वनडे मैच में मनीष ने अपने प्रदर्शन से कई लोगों को अपना फैन बनाया।

करियर के चौथे वनडे में जड़ा शतक

करियर के सिर्फ चौथे वनडे में बल्लेबाज मनीष पांडे सिडनी में नाबाद 104 रन की पारी खेल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज के अंतिम वनडे में भारत की जीत के हीरो रहे। चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे 26 वर्षीय पांडे भारत को जीताकर ही पैवेलियन लौटे। पांडे ने 81 गेंदों पर आठ चौके व एक छक्का लगाया। 

आईपीएल में शतक जड़ने वाले पहले भारतीय क्रिकेटर

पांडे वर्ष 2008 से कर्नाटक की ओर से प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेल रहे हैं। वे पहली बार तब सुर्खियों में आए थे, जब आईपीएल टी20 टूर्नामेंट में भारत की ओर से पहला शतक ठोकने वाले बने। वे बेंगलुरू रॉयल चैलेंजर्स टीम के सदस्य थे। क्रिकेट के प्रति इस जुनून से उन्होंने बता दिया कि वे अपने पिता की तरह आर्मी में जाने वाले नहीं हैं।

पांडे ने 2008-09 के सत्र में शुरूआती दो रणजी मैच में अर्धशतकीय पारियों के दौरान इस शॉट का खूब प्रयोग किया था। पांडे जब 15 साल के थे, तो बेंगलुरू आए थे। पांडे वर्ष 2008 में अंडर-19 विश्व कप में भारतीय टीम का हिस्सा भी थे। भारत ने खिताब जीता था।

पांडे आईपीएल में बेंगलुरू के साथ मुंबई इंडियंस, पुणे वारियर्स व कोलकाता नाइट राइडर्स टीम के सदस्य भी रहे हैं। पांडे ने पहला वनडे पिछले साल 14 जुलाई को हरारे में जिम्बाब्वे के खिलाफ खेला था। पांडे ने उस मैच में 71 रन बनाए और भारत को जीत दिलाई।